एमआरआई क्या है

63

MRI  का पूरा नाम मैग्नेटिक रिजोनेंस इमेजिंग (Magnetic Resonance imaging) होता है l

इस स्कैन के लिए शक्तिशाली चुंबक, रेडियो किरण कंप्यूटर का प्रयोग किया जाता है, जिसकी मदद से शरीर की जानकारी को विस्तृत तस्वीरों के माध्यम से प्राप्त किया जाता है l 

MRI स्कैन में एक्सरे और सीटी स्कैन की तरह किरणों का इस्तेमाल नहीं किया जाता l MRI  स्कैन का इस्तेमाल शरीर की लगभग हर हिस्से की जांच करने के लिए किया जाता है, जैसे कि –

  • दिमाग और रीढ़ की हड्डी की जांच 
  • हड्डियों और जोड़ों की जांच
  • स्तनों की जांच 
  • हृदय और रक्त वाहिकाओं की जांच
  • अन्य अंदरूनी अंग जैसे कि लीवर गर्भाशय और पुरुष ग्रंथि आदि की जांच

एमआरआई कैसे होती है

इस टेस्ट में एक्सरे तथा अन्य इमेजिंग टेस्ट की तरह किसी प्रकार की रेडिएशन या हानिकारक चीजों का इस्तेमाल नहीं किया जाता l 

एमआरआई स्कैन करवाने के लिए मरीज को थोड़ी बहुत तैयारी करने की जरूरत पड़ सकती है l अस्पताल में जाने के बाद डॉक्टर मरीज को कपड़े बदलने के लिए कहते हैं l क्योंकि MRI टेस्ट में चुंबकीय शक्ति का इस्तेमाल किया जाता है l  

इसलिए यह जरूरी है कि स्कैन कराएं जाने वाले हिस्से के अंदर किसी भी प्रकार की धातु की वस्तु ना हो इसलिए मरीज को MRI स्कैन से पहले किसी भी प्रकार की धातु की ज्वेलरी उतारने के लिए कहा जाता है l

MRI  में अत्यधिक शक्तिशाली चुंबक का इस्तेमाल किया जाता है l  इसलिए जिन लोगों के अंदरूनी शारीरिक अंगों बदल गए हैं उनका MRI स्कैन नहीं किया जाता l 

एमआरआई शुल्क

MRI की कीमत उसकी मशीन पर निर्भर करती है | किस टेस्ला पावर की मशीन आपके MRI में इस्तेमाल की गई है उस हिसाब से आपको पैसे देने होते है |

फिर भी अगर आप कीमत के बारे में जानना चाहते हो तो इसका ख़र्चा  १२०० रूपये से लेकर २५००० रूपये तक आ सकता है |  

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

FREE E-Book: Manage Your Weight FREE E-Book: Manage Your Weight

Leave A Reply

Your email address will not be published.