कॉन्स्टिपेशन यानि की कब्ज की समस्या।

37

कॉन्स्टिपेशन याने की कब्ज। यह एक ऐसी स्थिति है जिसमे व्यक्ति का पेट साफ नहीं होता। और मल त्याग करते समय कष्ट होता है। उसका मल काफी कठिन हो जाता है। उसके पेट में काफी ज्यादा गैस बनने लगती है। आम तोर पर लोग दिन में कमसे कम एक बार टॉयलेट जाते है।

लेकिन कब्ज की समस्या वाले लोग तीन दिन या उससे भी ज्यादा दिन तक मल त्याग नहीं कर पाते है। इसके कारन उनका पेट भारी भारी रहता है। उस व्यक्ति को कुछ खाने की इच्छा नहीं रहती। सिर में दर्द होने लगता है। किसी काम में मन नहीं लगता। कुछ लोगोंको उलटी की भी समस्या रहती है।

कब्ज की समस्या किसी को भी हो सकती है। इसीलिए, इसके कारण क्या क्या है ये भी हमे जानना जरूरी है।

रात में जागते रहना, बहुत मसालेदार और तली हुयी चीजोंका सेवन करना, पानी कम पीना, पत्तेदार सब्जिया न खाना, बिलकुल व्यायाम न करना, हमेशा एक जगह पर बैठे रहना, चाय कॉफ़ी का ज्यादा सेवन करना, अल्कोहल का अधिक मात्रा में सेवन करना, धूम्रपान करना, समय पर भोजन ना करना, बासी चीजे खाना इन जैसे कई कारणोंके वजहसे कब्ज की समस्या होती है।

कब्ज की समस्या के सबसे असरदार औषधि है त्रिफला। त्रिफला में आवला, बेहडा और हरडा होता है। कब्ज की समस्या होने पर या कब्ज न हो इसीलिए १ गिलास गर्म पानी में १ चम्मच त्रिफला चूर्ण मिलाकर इसका सेवन कीजिये। त्रिफला एक बहुत ही अच्छी औषधि है जो आपके पेट को साफ करने के लिए काफी लाभकारी है।

दूसरी एक आयुर्वेदिक औषधि है जो कब्ज की समस्या से राहत देने के लिए अच्छी है। उसका नाम है इसबगोल , २-३ चम्मच इसबगोल की भूसी १ गिलास दूध और गर्म पानी में मिलाकर रात को सोते समय इसे सेवन कीजिये।

Permanent solution of Constipation | कब्ज दूर करने का सही उपचार |

१ गिलास गर्म पानी में एक निम्बू निचोड़कर रात को सोते समय और सुबह खाली पेट इस पानी का सेवन कीजिये। इससे आपको पेट की कोई भी समस्या नहीं होगी। कब्ज की समस्या होने पर दिन में ३-४ बार आप इस पानी का सेवन कर सकते है।

१ गिलास दूध में १ चम्मच घी मिलाकर रात में सोने से पहले पिने से आपको कब्ज की समस्या नहीं होगी। पेट साफ रखने के लिए सबसे अच्छा है गर्म पानी। गर्म पानी भोजन को अच्छे से पचाने का काम करता है। इसीलिए कब्ज की समस्या होने पर ज्यादा से ज्यादा गर्म पानी का सेवन करे।

१ गिलास गर्म पानी में १ चम्मच शहद मिलाकर दिन में ३ बार इस पानी का सेवन करे। अमरुद, पपया, केला और अंगूर जैसे फलोंका सेवन कब्ज की समस्या में बहुत लाभकारी है। कब्ज की समस्या होने पर २-३ किलोमीटर तक चलना बहुत जरूरी है जिसके कारण शरीर में हलचल रहती है।

हमारे लिए सबसे अच्छा है की पेट हमेशा साफ रहे इस बात पर ध्यान रखना चाहिए। इसके लिए आपकी अच्छी नींद होना भी जरूरी है। रात को ७-८ घंटे की पूरी नींद होना शरीर के लिए आवश्यक होता है।

नींद पूरी ना होने पर भोजन का अच्छे तरह से पाचन नहीं होता और पेट में गड़बड़ी शुरू होती है। अपने दैनिक भोजन में हींग का इस्तेमाल शुरू कीजिये। हींग आपके भोजन को पचाने का काम करता है। कब्ज की समस्या होने पर हिंगवास्टिक चूर्ण का घी के साथ सेवन करे।

भोजन को पचाने के लिए जरूरी है पानी, इसीलिए दिन में ४-५ लीटर तक पानी पीना शरीर के लिए बेहद जरूरी होता है। इसके साथ हमारे दैनिक भोजन में फायबर का समावेश होना जरूरी है। हरी पत्तेदार सब्जिया, मौसमी, अनार, कच्चा गोभी, कच्चा टमाटर, ककड़ी, चुकंदर, गाजर और मूली इन सभी चीजोंमे फाइबर अधिक मात्रा में मौजूद होता है।

कोल्ड ड्रिंक, ब्रेड, पाव, चाय, कॉफ़ी, अल्कोहल, सिगारेट इन चीजोंका सेवन जितना हो सके उतना कम करे। इसके साथ ही दिन कुछ व्यायाम जरूर करे। कब्ज की समस्या ना हो इसीलिए सोंफ और ताजे फलोंका रस सेवन करे।

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply