कालमेघ के फायदे

7

कालमेघ के पत्तों को साफ करके पानी में उबालें फिर उन्हें छानकर एक गिलास पानी पिएं | इस उपाय को कुछ दिनों तक करने से आपका खून साफ हो जाएगा | गैस और एसिडिटी की समस्या होने पर इसके पत्तों का रस पानी मिलाकर सेवन करें। इससे आपको फायदा होगा |

बुखार की समस्या होने पर एक दो चम्मच कालमेघ के पत्तों का रस दिन में तीन बार सेवन करें। इससे शरीर का तापमान कम हो जाएगा | आधा चम्मच कालमेघ के पत्तों के रस में कच्ची हल्दी और चीनी मिलाकर पीने से पेट के कीड़े नष्ट हो जाते हैं।

कालमेघ को पानी में अच्छे से उबालकर उस पानी से घाव को साफ करने पर घाव जल्दी ठीक हो जाते हैं। मलेरिया के बुखार में कालमेघ बहुत ही लाभकारी है। इसके लिए काली मिर्च और कालमेघ के पत्तो को एक गिलास पानी में अच्छे से उबालें | पानी आधा रहने पर इस पानी का सेवन करें |

कालमेघ आपके शरीर में ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करता है। इसलिए मधुमेह के रोगियों के लिए बहुत ही लाभकारी है। यह मधुमेह के कारण बढ़ने वाले वजन को नियंत्रित करता है

इसमें एंटी क्लोटिंग गुण मौजूद होते हैं जो रक्त के नियमित प्रवाह को सुनिश्चित करते हैं। इससे हार्ट अटैक का खतरा भी कम हो जाता है । काल मेघ रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है।

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply

Your email address will not be published.