गंगाधर चूर्ण

2,162

पतंजलि दिव्य फार्मा कंपनी द्वारा बनाई जाने वाली गंगाधर चूर्ण एक हर्बल औषधि है | पेट खराब होने पर मुख्यतः इस औषधि का उपयोग किया जाता है।

गंगाधर चूर्ण घटक –

  1. नागरमोथा 
  2. इंद्रजो 
  3. बेलगिरी
  4. लोधर 
  5. मोचरस
  6. धाय के फूल

चलिए इन घटकोंको एक एक करके जानते है |

नागरमोथा –

इस में दीपन याने की पाचन शक्ति को बढ़ानेवाले, पाचन भोजन को पचानेवाले गुण मौजूद होते है | नागरमोथा की तासीर शीतल होती है l यह अग्निवर्धक याने की भूक को बढ़ानेवाला होता हैl साथ ही साथ यह मतली, उलटी, बुखार,अतिसार की समस्या को भी ठीक करता है l पेट के कीड़ों को भी नष्ट करता है l 

इन्द्र्जो –

इन्द्र्जो को कुटज भी कहा जाता हैl इसमे ग्राही, स्तम्भन, शीतल  और पाचन गुण मौजूद होते हैl साथ ही यह कृमिनाशक भी होती हैl  आमातिसार रक्तातिसार में विशेष लाभकारी हैl यह पेट की मरोड़ को ठीक करती है , बवसीर के खून को बंद करती हैl 

बेलगिरी – 

यह विटामिन और पोषक तत्वों से भरपूर होता है l बेल में मौजूद टैनिन और पेक्टिन मुख्य रूप से डायरिया और पेचिश के इलाज में मुख्य भूमिका निभाते है l बेल पाचन प्रक्रिया में सुधार लाता है, पाचन संबंधी विकारों को दूर करता है l 

लोध्र –

इसमे ग्राही, शीतल, कफ पित्तशामक, शोथनाशक, अतिसार को काम करनेवाले गुण मौजूद होते है|

मोचरस – 

यह कफ पित्तशामक, ग्राही, शीतल, स्निग्ध, पुष्टिकारक और वीर्यवर्धक होता है l मोचरस प्रवाहिका, रक्तातिसार, रक्तवमन, श्वेतप्रदर जैसी समस्याओं का इलाज करता हैl

धाय के फूल –

इसे धातकी भी कहा जाता हैl धातकी पेट के कीड़ों को कम करती है, यह अतिसार को रोकती है l

गंगाधर चूर्ण फायदे –  

  1. इस औषधि में सभी घटक आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां है। 
  2. गंगाधर चूर्ण में एंटी डायरियल गुण मौजूद होते हैं। 
  3. यह एक शीतल और स्तंभक औषधि है जो पतले दस्त को रोकती हैl 
  4. इस औषधि में शोथ हर गुण मौजूद होते हैं जो पेट की सूजन को कम करते हैं साथ ही यह औषधि भूक को बढ़ाती है पाचन में सुधार करती है। 
  5. इसके अलावा यह औषधि  वात दोष और कफ दोष को दूर करती है। 
  6. अल्सरेटिव कोलाइटिस, मालअब्जॉर्प्शन सिंड्रोम की समस्या का इलाज करने के लिए भी यह लाभकारी हैl

गंगाधर चूर्ण मात्रा – 

1 से 3 ग्राम चूर्ण को दिन में तीन बार ले सकते हैंl अगर कम दस्त है तो एक या दो बार ही इसे लेना सही रहेगा l इस औषधि को गर्म पानी या छाछ के साथ  ले सकते हैं। इस औषधि का सेवन डॉक्टर की सलाह से करेंl इससे पित्त वृद्धि होती है l बच्चों को इस औषधि से दूर रखें। अच्छी क्वालिटी का गंगाधर चूर्ण यहासे खरीदो

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –


2 Comments
  1. Jitendra Singh says

    Kharidega kaise

    1. Dr.Kalyani says

      Buy from this link:- https://amzn.to/2SaoyaM

Leave A Reply

Your email address will not be published.