गर्भ में बच्चा पैर क्यों मारता है?

12

महिला गर्भावस्था का हर एक पल बहुत ही महत्वपूर्ण होता है, क्योंकि वह इस पल में एक और नन्ही सी जिंदगी को अपने गर्भ में महसूस कर रही होती है । और इसी पल में एक अहम हिस्सा होता है कि बच्चे का पेट में लात मारना । गर्भ में बच्चा लात क्यों मारता है? आइए जानते हैं कि मां के पेट में बच्चा किन किन कारणों से लात मारता है बच्चे का गर्भ में लात मारने का पहला कारण है कि आपके गर्भ में पल रहा बच्चा बिल्कुल स्वस्थ है जब बच्चा स्वस्थ होता है तभी वह मां के पेट में लात मारने की हरकत करता है दूसरा कारण होता है कि गर्भ में पल रहा बच्चा बाहरी परिवर्तन को महसूस करने लगता है इसलिए अपनी प्रतिक्रिया देने के लिए पेट में लात मारना शुरू कर देता है और मां को बार-बार होता है होता

अक्सर चौथे या पांचवें महीने में गर्भवती महिलाओं को एहसास होता है कि उसके गर्भ में पल रहा बच्चा पैर मारता है जब बच्चा पहली बार पेट में पैर मरता है तो स्त्री को बहुत ही खुशी महसूस होती है वह उसके जीवन का सबसे सुंदर समय होता है। पैर मारना बच्चे के अच्छे स्वास्थ्य का चिन्ह है जिसका मतलब है आपका बच्चा गर्भ के अंदर सक्रिय है।

बच्चा वातावरण में परिवर्तन के प्रति तुरंत अपनी प्रतिक्रिया दिखाता है। विशेष रूप से तब जब वह कोई बाहरी आवाज सुनता है जब स्त्री करवट पर लेती है तब बच्चे का किक मारना बढ़ जाता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जब मां बाई करवट पर सोती है, तब भ्रूण को रक्त की आपूर्ति बढ़ जाती है। जिसके कारण बच्चे की हलचल बढ़ जाती है।

गर्भवती स्त्री को अक्सर यह अनुभव होता है कि उनके खाना खाने के बाद बच्चे का किक मारना बढ़ जाता है | किक की संख्या कम होना यह बताती है कि बच्चा कमजोर है। यदि गर्भ में बच्चे की गतिविधियों का कम हो जाता है तो यह चिंता का कारण हो सकता है।

यदि आपके बच्चे के किक सामान्य से कम हो रहे हैं तो इससे यह पता चलता है कि बच्चे को ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति नहीं हो रही है। बच्चे का हिलना और लात कम मारना शुगर लेवल का कम होना भी हो सकता है | 9 महीने पूरे हो जाने के बाद आपका बच्चा बड़ा हो जाता है वैसे वैसे वह कम किक मारता है |

जो महिलाएं पहली बार गर्भवती हुई है और उनके गर्भ में बच्चा 9 सप्ताह का हो जाता है तब बच्चा पेट में लात मारना शुरू कर देता है । जबकि महिलाएं दूसरी बार गर्भवती हुई होती है तो उनके 13 सप्ताह के बाद बच्चा लात मारना शुरू कर देता है । यह हार्मोन में बदलाव होने के कारण होता है बच्चे का पेट में लात मारने का कारण होता है कि बच्चे को गर्भ में ऑक्सीजन की मात्रा की आपूर्ति कम हो रही हो।

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply