गैसहर चूर्ण

30

दोस्तों, अगर कोई व्यक्ति आपको बोलता है कि मुझे जिंदगी में कभी भी गैस की समस्या नहीं हुई है, तो समझ लेना कि वह आपसे झूठ बोल रहा है। क्योंकि हमारा शरीर ही कुछ ऐसा है, अगर आप ढेर सारा खाना एक साथ खाते हैं तो खाने का हजम( गैसहर चूर्ण ) नहीं हो पाता और गैस की समस्या होती है। अगर आप लंबे समय तक बिना कुछ खाए पिए बैठते हैं तो भी शरीर में वायु का प्रकोप होता है और गैस की समस्या होने लगती है।

इस समस्या से बचने के लिए भोजन पर विशेष ध्यान दें। क्योंकि, अच्छे भोजन के बिना अच्छी हेल्थ नहीं बनती और अच्छी हेल्थ के बिना आप अच्छा काम नहीं कर सकते।

अच्छा काम नहीं करोगे तो अच्छे पैसे नहीं कमा सकते और पैसे नहीं कमाओ गे तो अच्छा भोजन भी नहीं कर सकतेl इसलिए अगर आपको हेल्दी रहना है तो लंबे समय तक खाली पेट बिल्कुल भी ना रहे, ढेर सारी चीजों को एक साथ बिल्कुल भी ना खाए l

सुबह-सुबह भरपेट नाश्ता करें | हर दो-तीन घंटे में कुछ ना कुछ खाते रहिए। भरपूर पानी का सेवन करें। अगर आप इन बातों पर ध्यान देते हैं, तो आप पेट में होने वाली गैस की समस्या से दूर रह सकते हैं। साथ ही दिन भर में कुछ ना कुछ व्यायाम जरूर करें जो आपके पाचन तंत्र के लिए अच्छा होगा।

पेट में होने वाली गैस के कारण पेट भारी-भारी रहता है। कुछ भी काम करने की इच्छा नहीं होती l मतली, उल्टी, पेटदर्द, पेट में ऐठन की समस्या निर्माण होती है। गैसहर चूर्ण पाचन को ठीक करता है और गैस की समस्या से मुक्ति दिलाता है |

कभी कभी खाना पेट में पड़ा रहता है, जिसके कारण उस खाने का जहर बनने लगता है और कई बीमारियों की शुरुआत होती है। पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाने के लिए आप गैस हर चूर्ण का सेवन कर सकते हैं।

पेट में गैस बनने के कारण कब्ज की समस्या होती है। पेट अच्छी तरह से साफ नहीं होता तो ऐसे वक्त में आप गैस हर चूर्ण का उपयोग कर सकते हैं।

जिन लोगों को बार बार गैस की शिकायत होती है। उनके लिए गैस हर चूर्ण बहुत ही लाभकारी है। यह एक आयुर्वेदिक औषधि है। पतंजलि की दिव्य फार्मा कंपनी इस चूर्ण को बनाती है। असली गैसहर चूर्ण को यहासे खरीदो

गैसहर चूर्ण के घटक

  • अजवाइन
  • हरीतकी
  • काला नमक
  • मीठा सोडा
  • नीम
  • हींग
  • जीरा
  • नौसादर
  • नींबूसत्व

जैसे घटक इसमें मौजूद होते हैंl

फायदे

  • मनुष्य शरीर में वात पित्त कफ नाम के 3 दोष मौजूद होते हैंl इन तीनों दोषों में से किसी भी दोष की वृद्धि या क्षय होने पर बीमारियों की शुरुआत होती है।
  • शरीर में वात दोष का प्रकोप होने पर गैस बनने लगती है l गैसहर चूर्ण में वातहर गुण मौजूद होते हैं जो मल को ढीला करते हैं जिससे पेट अच्छी तरह से साफ होता है और कब्ज की समस्या दूर होती है। इस औषधि में मौजूद घटक पेट की ऐंठन, पेटदर्द, पेट फूलना, मतली जैसी समस्याओं को जड़ से नष्ट करते हैं l और आप को राहत देने का काम करते हैं।
  • खराब पाचन तंत्र के कारण जिन लोगों का पाचन अच्छी तरह से नहीं होता जिसकी वजह से अच्छी भूख नहीं लगती उनके लिए यह औषधि बहुत ही गुणकारी है। यह पाचन प्रक्रिया को तेज करती है। जिससे भूख भी अच्छी तरह से लगने लगती है।
  • गैस की समस्या से बचने के लिए भोजन के तुरंत बाद पानी या भोजन करते समय बीच-बीच में पानी का सेवन बिल्कुल भी ना करें। इससे पाचन शक्ति कमजोर होती है भोजन के आधा घंटे के बाद ही पानी का सेवन करें l
  • गैस की समस्या से बचने के लिए पाचन शक्ति को मजबूत बनाने के लिए आप इस औषधि का सेवन कर सकते हैं।

गैस हर चूर्ण को एक या दो चम्मच की मात्रा में दिन में दो बार भोजन करने के बाद गर्म पानी के साथ ले सकते हैं या फिर जब भी कभी आपको गैस की तकलीफ होती है तो उस वक्त आप इसे ले सकते हैं।

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply

Your email address will not be published.