जामुन के औषधीय गुण

15

जामुन में विटामिन सी और आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसे खाने से शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ता है। यह आपके रक्त को शुद्ध करता है। जामुन में विटामिन A पाया जाता है जो आंखों के लिए बहुत ही लाभकारी होता है। जामुन में ग्लूकोस फ्रुक्टोज फोलिक एसिड सोडियम पोटेशियम कैल्शियम फास्फोरस भरपूर मात्रा में मौजूद होता है
जो आपको कई बीमारियों से लड़ने की शक्ति देता है।

अगर आपको लीवर की समस्या है तो जामुन का रस पी सकते है। रोज सुबह शाम जामुन का रस पीने से आपकी लिवर की समस्या खत्म हो जाएगी। अगर आपको पथरी की समस्या है तो जामुन की गुठली के पाउडर को दही के साथ लेने से लाभ मिलता है।

जामुन का फल खाने से भी पथरी में फायदा होता है। पांव में छाले पड़ने पर जामुन की गुठली को सुखाकर पीस लें फिर इस पाउडर में पानी डालकर घाव पर लगाएं। इससे आपके घाव जल्दी भर जाएंगे। अगर आपको पायरिया याने की दांतों से खून आने की शिकायत है तो जामुन की गुठली में थोड़ा नमक मिलाकर इसे बारीक पीस लें इस मिश्रण को रोज अपने दांतों और मसूड़ों पर मलें इससे खून निकलना बंद हो जाएगा और आपकी पायरिया की शिकायत दूर हो जाएगी।

अगर आपके पेट में मरोड़ एथन की समस्या है तो जामुन की छाल का काढ़ा बनाकर पीने से फायदा मिलेगा जामुन की छाल को घिसकर पानी के साथ दिन में एक या दो बार सेवन करने से और खराब पेट की समस्या।
दूर हो जाएगी जामुन रक्त में शक्कर की मात्रा को नियंत्रित करता है जिसके कारण मधुमेह मरीज को इसके सेवन से बहुत ही फायदा मिलता है।

जामुन की गुठली को अच्छी तरह से पीसकर इसका पाउडर बना लें। रोज सुबह-शाम 33 ग्राम पाउडर का सेवन करें। इससे आपका मधुमेह जड़ से खत्म हो जाएगा शरीर की कमजोरी को दूर करने के लिए जामुन के औषधीय गुण बहुत ही फायदेमंद है। यह आपकी याददाश्त को बढ़ाता है शारीरिक संबंध बनाने के बाद आई हुई कमजोरी को दूर करने के लिए एक चमक जामुन के रस में एक चम्मच शहद और एक चम्मच आंवले का रस मिलाकर सुबह-शाम इसका सेवन करें इससे आपको ताकत आएगी |

जामुन गठिया के उपचार में बहुत ही लाभकारी है। इसकी छाल को खूब उबालकर बचे घोल का लेप घुटनों पर लगाने से। गठिया में आराम मिलता है जामुन की छाल महिलाओं में डायरिया की समस्या में फायदेमंद है | यह गर्भवती महिलाओं के लिए भी फायदेमंद है। इसके लिए जामुन की छाल को पानी में उबालें एक चौथाई पानी रहने पर छानकर धनिया और जीरा पाउडर के साथ इसे दिन में दो बार इसका सेवन करें |

त्वचा के इलाज में भी जामुन बहुत ही फायदेमंद है। उनके रस को थोड़े से पानी में मिलाकर त्वचा पर लगाने से यह समस्या खत्म हो जाएगी। जामुन के बीज को पीसकर इसमें गाय का दूध मिलाकर इसका पेस्ट तैयार करें रात को सोने से पहले इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं सूखने के बाद चेहरे को पानी से साफ करें इसे मुहासे ठीक हो जाते हैं। पोटेशियम से भरपूर होने के कारण जामुन के औषधीय गुण रूद्र को स्वस्थ रखने में सहायक है जो उच्च रक्तचाप स्ट्रोक जैसी कई तरह के ह्रदय रोगो से शरीर को बचाता है।

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply