पतंजलि यौवन चूर्ण

55

दोस्तों, आज के समय में लोग बहुत ही कम उम्र से सेक्स के प्रति आकर्षित हो जाते हैं। जिसके कारण वह बार-बार वीर्य पतन करते हैं। उनको पतंजलि यौवन चूर्ण के बारे में जानना होगा ऐसे लोग जब मोटापा या दुबलापन का शिकार बन जाते हैं तो उनकी जिंदगी में तनाव आ जाता है |

तो उनकी शादीशुदा जिंदगी बिखर जाती है | पुरुषों से जुड़ी कई समस्याओं का इलाज करने के लिए पतंजलि यौवन चूर्ण एक बहुत ही अच्छी औषधि है। यह एक आयुर्वेदिक औषधि है, इसमें किसी भी केमिकल का उपयोग नहीं किया जाता है।

शारीरिक कमजोरी, यौन कमजोरी, कामेच्छा की कमी आज के समय में पुरुषों की मुख्य समस्याएं हैं । यौवन चूर्ण पुरुषों के लिए एक टॉनिक है, जो उनकी कई समस्याओं को ठीक कर सकता है |

घटक

अश्वगंधा, काकोली, सफेद मूसली, बबूल, जहरमोहरा, सफेद बेहमान, पलाश इस तरह की आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों को एक साथ मिलाकर इस चूर्ण को बनाया जाता है। यह एक हर्बल औषधि है जिसका कोई भी दुष्परिणाम नहीं है।

फायदे

मनुष्य शरीर में रस, रक्त, मांस, मेद, अस्थि, मज्जा, शुक्र इस तरह के सात धातु होते हैं । हर एक धातु का विकास उसके पहले धातु पर निर्भर होता है। जब इनमें से किसी धातु का अच्छी तरह से विकास नहीं होता, तो लोगों के शरीर में धातुक्षीणता होती है।

जिसके कारण वह कमजोरी का शिकार बनते हैं | शरीर की कमजोरी को दूर करने के लिए धातु कमजोरी को दूर करने के लिए यौवन चूर्ण एक बहुत ही अच्छी औषधि है।

यह औषधि नसों को और मांसपेशियों को ताकत देती है, साथ ही यह पतंजलि यौवन चूर्ण बल, धातु और वजन को बढ़ाता है। जिससे शरीर की कमजोरी दूर होती है और शरीर बलवान पुष्ट बनता है।

कुछ लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत ही कमजोर होती है। जिसके कारण वह बार-बार बीमार पड़ते हैं। जिससे उनकी सेक्स लाइफ बिखर जाती है। इस चूर्ण में मौजूद जड़ी बूटियां इम्यूनिटी पावर को बढ़ाने के लिए बहुत ही उपयोगी है।

लिंग की शिथिलता, कामेच्छा की कमी, वीर्य का पतलापन, स्वप्न दोष के कारण लोग नपुसंकता का शिकार बन जाते हैं। जिससे वह पुत्र प्राप्ति से वंचित रहते हैं।

इन समस्याओं के कारण उन्हें शारीरिक संबंध बनाने में भी कई समस्याएं आती है जिसके कारण वह अपने साथी को शारीरिक सुख नहीं दे पाते हैं।

जिससे उनकी जिंदगी तनाव में गुजरती है | ऐसे लोगों के लिए यौवन चूर्ण का सेवन जरूरी है। यह चूर्ण वीर्य दोष को मिटाता है | वीर्य को गाढ़ा करता है स्पर्म काउंट बढ़ाता है।

जिससे पुरुष नपुसंकता में फायदा मिलता है | यह औषधि धातु पुष्टि करती है, पाचन में सुधार करती है, मांसपेशियों की कमजोरी को दूर करने के लिए उन्हें मजबूत बनाती है | जिससे प्रजनन अंगों की शिथिलता ढीलापन दूर हो जाता है।

साथ ही यह औषधि कामेच्छा शक्ति को बढ़ाती है। हार्मोन असंतुलन के कारण भी शारीरिक संबंधों में परेशानी आती है। यौवन चूर्ण औषधि टेस्टोस्टेरोन हार्मोन को बढ़ाती है | साथ ही हार्मोन संतुलन में भी सहायता करती है |

जो लोग दुबलेपन के कारण यौन कमजोरियों का शिकार बने हैं, उनके लिए यह औषधि बहुत ही उपयोगी है | यह औषधि वजन को बढ़ाने में सहायता करती है, दुर्बलता को ठीक करती है |

थकान दुबलापन कमजोरी को दूर करके यह औषधि यौन क्षमता को बढ़ाती है। जिससे कामेच्छा भी बढ़ने लगती है। यौवन चूर्ण हमारे रक्त संचार को ठीक बनाकर रक्त में ऑक्सीजन की मात्रा को भी ठीक करता है |

मात्रा

आधे से एक चम्मच चूर्ण को दिन में दो बार दूध में मिलाकर ले सकते हैं |

सावधानिया

18 साल से कम उम्र के लोगों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए ।
बहुत बूढ़े लोगों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए ।
अगर आपके शरीर में किसी प्रकार की बीमारी है तो इस चूर्ण को लेने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें |

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply