बारिश के मौसम में होनेवाली बीमारिया और उनसे बचने के उपाय

65

दोस्तों, बारिश का मौसम तो हर किसी को अच्छा लगता है। ४ महीनो की गर्मी सहन करने के बाद लोग बारिश का इंतजार करते है। बारिश के मौसम में हर जगह पर हरयाली देखने को मिलती है। जिससे मन बहुत ही प्रसन्न हो जाता  है। इन दिनों में धुप बहुत ही कम होती है, कम ज्यादा बारिश होती रहती है। घूमने के लिए भी कई जगहों पर भीड़ लग जाती है। नदी, तालाब पानी से भर जाते है। कुछ लोग बारिश में भीगने का आनंद भी उठाते है।

 

लेकिन इनमे से कुछ लोगोंकी इम्युनिटी पावर बहुत ही कमजोर होती है ऐसे लोग सर्दी जुकाम के शिकार बन जाते है। इसलिए बारिश में भीगने के बाद आपको जल्द से जल्द कपडे बदलने चाहिए। बालों को सूखा लेना चाहिए। और गर्म कपडे पहने चाहिए। इसके साथ  ही आपको गरमा गर्म सूप भी पीना चाहिए है। इससे आप सर्दी जुकाम की समस्या से बच सकते है।

बारिश के मौसम में संक्रमक  बीमारिया ज्यादा फैलती है। ये बीमारिया एक व्यक्ति से बहुत ही जल्दी दूसरे व्यक्ति में फैलती है। अगर किसी व्यक्ति को खासी की समस्या है तो उससे दूसरों को खासी की समस्या हो सकती है। इसलिए खासते  समय हमेशा रुमाल का इस्तमाल जरूर करना चाहिए।

                     

खासी जुकाम के कारण कभी कभी निमोनिया की समस्या भी हो सकती है। जो अस्थमा के मरीज है उन्हें बारिश में बिलकुल भी नहीं भीगना चाहिए इससे उनकी तकलीफ और भी बढ़ सकती है। बारिश के मौसम में H1N1  वायरस के कारण स्वाइन फ्लू जैसी खतरनाक बीमारी बड़ी तेजी से फैलने लगती है। कुछ सालो पहले लोगों ने इसका नाम भी नहीं सुना था। जो आज एक आक्रमक बीमारी के रूप में फैलती है। स्वाइन फ्लू से बचने के लिए  गर्दी की जगह पर फेस मास्क लगाकर जाये, अपने हाथों को पानी और साबुन से बार बार साफ करते रहे। गंदे हाथों को अपने शरीर को मत लगाए। स्वाइन फ्लू के लिए वैक्सीन भी उपलब्ध है जो हर साल बारिश के मौसम से  पहले आपको जरूर लेना चाहिए। इससे आप स्वाइन फ्लू जैसी खतरनाक बीमारी से दूर रह सकते है। छोटे बच्चों से लेकर बूढ़े व्यक्ति तक हर कोई इस वैक्सीन को ले सकता है। बाहर जाते समय छाते का इस्तेमाल जरूर करे। अगर स्कूटी और बाइक पे घूमने का मन करे तो रेनकोट जरूर पहनना। अगर आपको ऑनलाइन रेनकोट आर्डर करना है तो इस लिंक से करे। यहां पर आपको सस्ते और अच्छी क्वालिटी का रेनकोट मिल जायेगा। 

 

बारिश के मौसम में वायरल या बैक्टेरियल संक्रमण के कारण conjunctivitis  की समस्या होती है। ज्यादातर ये समस्या बच्चो को होती है। इसमें आँखे लाल हो जाती है आँखों से पानी आने लगता है, कभी कभी आँखों में सूजन भी आ जाती है। ये बीमारी एक व्यक्ति से बहुत ही जल्दी दूसरे व्यक्ति में फैलती है। इसलिए अगर किसी को भी ये समस्या होती है तो उन्हें बाकि लोगों से दूर रहना चाहिए। इस बीमारी से बचने के लिए गुनगुने पानी से आखों को दिन में ४-५ बार साफ करे।  संक्रमण होने पर आखों पर चश्मा लगाकर रखे। अंत में बस इतना कहना चाहती हूँ की हर मौसम जितना मजेदार होता है उतनी ही परेशानी साथ लेकर आता है। बारिश के मौसम अच्छी तरह से आनंद उठा ले।

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply

Your email address will not be published.