भूख बढाने के घरेलु आसान उपाय।

50

मेरे प्यारे दोस्तों, आशा करती हूँ आप सब ठीक हो। आजकल हम देखते है समाज में हर दूसरी माता, अपने बच्चे के भूख न बढ़ने के कारन परेशान सी रहती है। मेरे हस्पताल में भी कई सरे इस प्रकार के केसेस आते रहते है।

ज्यादातर लोग एक गलतफैमी में जीते है की जिन लोगोंको भूख नहीं लगती वे लोग दुबले पतले होते है, लेकिन आपको पाता नहीं होगा की हट्टा कट्टा शरीर होने के बावजूद भी कई सरे ऐसे लोग है जिन्हे भूख न लगने की शिकायत रहती है। 

शरीर से कमजोर रहने वाले लोगोंमे तो यह आम बात है। उन्हें तो सिर्फ यही समस्या नहीं रहती बल्कि लोग उन्हें छोटू करके भी बुलाते है, घरवाले और रिश्तेदार कुछ खाया करो ऐसा कहते है। कमजोर लोगोंको भूख न लगना और लोगोंके ताने सुनना ऐसी दो प्रकार की समस्या होती है। सब लोग तो कहते है कुछ खाया करो, लेकिन भूख ही न लगे तो कैसे खाना खाये?

भूख न लगने का कारन

हार्मोनल असंतुलन, शारीरिक बीमारिया, भोजन विकार, डिप्रेशन, अरुचि पूर्ण भोजन, भावनात्मक दुःख, शारीरक और मानसिक कमजोरी जैसे कई कारणोंसे भूख में कमी आ सकती है। माना की हमने भूख न लगने के कारन जान लिए लेकिन अगर आपने अपनी मानसिक स्तिथि को सुधार में लाया तो बाकि करनेके लिए सिर्फ एक चीज जिम्मेदार है और वो है आपका कमजोर पाचनतंत्र।

इन चीजोंका सेवन करनेसे आप भूक को नहीं रोक पाओगे।

पाचनतंत्र को अच्छा बनाने के बारे में हम जरूर चर्चा करेंगे, लेकिन उससे पहले में कुछ पॉइंट निचे बता रही हूँ। उसे खाना कहते समय जरूर याद रखना – 

  • भोजन शुरू करने से पहले आधा घंटा पानी पिले।
  • भोजन के समय बिच में बिलकुल पानी नहीं पीना है।
  • खाने को छोटे छोटे हिस्से में डिवाइड करके खाना है।
  • चम्मच के बजाये हातोंसे खाना खाये।
  • खाने के हर एक भाग को कमसे कम ३२ बार चबाके खाना है।
  • अपनी सलाइवा(लारग्रंथि) को हर भाग में अच्छे से मिलाना है।
  • ज्यादा तिखा और ज्यादा मीठा खानेसे दूर रहे।
  • भोजन के बाद बाहर घूमने जरूर जाये।

मुद्दे की बात

पाचन तंत्र सुधारने के लिए आप अजवाइन का इस्तेमाल कर सकते है, यह आपके भूख को उत्तेजित करता है। इसकेलिए अजवाइन का एक चम्मच चूर्ण पानी में मिलाकर उन पानी को गर्म करे फिर इसका सेवन करे। आप सीधा आधा छोटा चम्मच अजवाइन भी खा सकते है। आपको यह प्रयोग हर रोज सुबह खाली पेट १० दिन तक लगातार करना है। 

आयुर्वेद दवाओंमे त्रिफला एक बहुत ही गुणकारी औषधी मानी जाती है। इसमें तीन प्रमुख घातक होते है – हरडा, बेहडा और आवला। इन तीनो में से हरडा भूख को बढाने में काफी मदद करता है। हरडा शरीर के विषाक्त पदार्थोंको बहार निकालने का काम करता है। यह हमारे अपच के समस्या का इलाज करता है और पाचन तंत्र को मजबूत बनता है। इसका चूर्ण बनाके रखना और सुबह शाम गुनगुने पानी के साथ इसका सेवन करना। १५ – २० दिन लगातार कर ने से आपको आहार में फर्क दिखने लगेगा।

अपच, एसिडिटी, भूख की कमी जैसी समस्या से परेशान लोगोंके लिए इलायची बहुत ही फायदेमंद है। यह हमारे पाचन तंत्र के लिए एक टॉनिक की तरह काम करता है। यह पाचन रस के प्रवाह को उत्तेजित करके पाचन कार्यशीलता को बढ़ावा देती है। इसीलिए भोजन बनाते समय आप इलायची का इस्तेमाल कर सकते है, इससे आपको फायदा होगा।  

धनिया का रस गैस्ट्रिक एंजाइम के उत्पादन में मदद करता है, जो बदले में भूख को बढाता है। आप अपने भोजन में धनिया इस्तेमाल कर सकते है, साथ ही धनिया के पत्तोंका रस भी सुबह खाली पेट पीना गुणकारी है। १ कप पानी में आधा कप धनिया के पत्ते मिलाकर इसका रस निकाले। हर रोज सुबह खाली पेट इसका सेवन करे, इससे आपको भूख बढ़ने में मदद होगी।

अदरक का रस भूख की कमी का प्रभावी इलाज कर सकता है। इसके आलावा यह प्रतिरक्षा प्रणाली और पाचन तंत्र के लिए भी लाभकारी होता है। धनिया के बीज और सूखे अदरक को एकसाथ मिलाकर इसका चूर्ण तयार करे। १ चम्मच चूर्ण को एक गिलास पानी में मिलाकर अच्छी गर्म करे। हर रोज सुबह खाली पेट इसका सेवन करने से आपकी भूख बढ़ेगी। 

एक गिलास अनार के जूस में १ चम्मच शहद मिलाकर, दिन में दो बारे इसका सेवन करने से तेज भूख लगने लगती है। अच्छी क्वालिटी का शहद खरीदना चाहते हो तो इस लिंक पे जाओ। भूख बढाने के लिए आप आंवले का भी इस्तेमाल कर सकते हो, इसके लिए आपको हर सुबह दो चम्मच आंवले का जूस लेना होगा। धीरे धीरे आपकी भूख बढ जाएगी। 

ये सारे उपाय तो आप कर ही लोगे, लेकिन इसके साथ हर दिन सुबह थोड़ी कसरत करने से आपको ज्यादा फायदा मिलेगा। हर सुबह योग करना भी सेहद के लिए लाभकारी होता है।  योग में आप सूर्यनमस्कार, कपालभाति, पश्चिमोत्तनासन, पवन मुक्तासन जैसे योग कर सकते है। पैदल चलने से भी भूख अपने आप बढ़ती है।

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े – 

Leave A Reply

Your email address will not be published.