महिला प्रेग्नेंट कैसे होती है।

100

दोस्तों, आज हम जानेंगे की महिला किस प्रकार प्रेग्नेंट होती है। बच्चा पैदा करने के लिए पुरुष और स्त्री दोनोंकी जरूरत होती है। इनमेसे सिर्फ कोई एक बच्चा पैदा करने के लिए असमर्थ है।

पुरुष की कोशिकाएं सूक्ष्म कोशिकाएं होती है, जो पुरुषोंके लिए वृषण में बनती है। ये शुक्राणु सीमेन नामक एक तरल पदार्थ से चिपके होते है। जो स्खलन के दौरान पुरुष के लिंग से बाहर निकलते है। 

हर बार यौन सम्बन्ध बनाने के बाद लाखो शुक्राणु महिलाके योनि में गिरते है। लेकिन पुरुष का सिर्फ एक ही शुक्राणु महिलाके अंडे से मिलता है, जिसके कारन महिला गर्भवती हो जाती है। 

महिला के अंडाशय में अंडे बनते है। मासिक धर्म को नियंत्रित करने वाले हार्मोन्स के कारन इनमे से कुछ अंडे हर महीने परिपक्व हो जाते है। परिपक्व अंडे याने की Mature EGG, स्पर्म कोशिकाओंके साथ निषेचित होने के लिए तयार होते है। 

मासिक धर्म के बाद परिपक्व अंडा महिला के अंडाशय में रहता है, जिसे अंडोत्सर्ग याने की Ovuluation कहते है। यह परिपक्व अंडा १२ -२४ घंटे तक फ़ॉलोपीएन ट्यूब से गर्भाशय की और टहलता रहता है। 

इसी समय जब स्खलन के दौरान पुरुष का सीमेन महिला के योनि में गिरता है तब स्पर्म कोशिकाएं cervix और गर्भाशय के माध्यम से फॉलोपियन ट्यूब में तैरती है और वहा अंडे की तलाश करती है। 

इस दौरान जब अंडा स्पर्म कोशिकाओंके सम्पर्क में आता है तो स्पर्म कोशिकाएं उसके साथ मिलकर निषेचन की क्रिया करती है। निषेचन होने के बाद गर्भ में भ्रूण का निर्माण होता है और महिला प्रेग्नेंट होती है।

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

महिला गर्भवती कैसे बनती है। माँ बनने की प्रोसेस।

Leave A Reply

Your email address will not be published.