सेंधा नमक के फायदे

54

आयुर्वेद के अनुसार सेंधा नमक वसा को जलाता है | यह शरीर में छाया परी को बेहतर बनाता है और खाने की तृष्णा को रोकता है | जिसके कारण आपको वजन घटाने में हेल्प मिलती है। सेंधा नमक पेट दर्द से छुटकारा पाने का एक प्राकृतिक तरीका है।

यहां पाचन में भी सुधार करता है यह आंत और पेट से गैस निकलता है। सेंधा नमक पेट में एसिड के उत्पादन को कम करता है | और सीने की जलन को रोकता है | सेंधा नमक पेट के कीड़ों को नष्ट करने में हेल्प करता है। नींबू के रस के साथ सेंधा नमक लेने से पेट के कीड़े नष्ट होते हैं।

नमक मांसपेशियों की ऐंठन को दूर करने का काम करता है | मांसपेशियों में ऐंठन होने पर एक गिलास पानी में एक चम्मच नमक मिलाकर पीने से कुछ ही मिनटों के भीतर आपको राहत मिलेगी | बस्ती पंचकर्म एक एनिमा प्रक्रिया है। बस्ती तरल तैयार करते समय नमक को डाला जाता है।

यह आंतों से दोषों को भंग और निष्कासित करने का काम करता है। सेंधा नमक शरीर को साफ करने के लिए एक स्क्रब के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। यह मृत त्वचा को हटाता है और त्वचा की चमक को बढ़ाता है। इस पर हाथ रगड़ने से त्वचा साफ होती है। गुनगुने पानी में सेंधा नमक मिलाकर गरारे करने से गले में दर्द, गले में सूजन, सूखी खांसी और टॉन्सिल की समस्या में। आराम मिलता है।

लो बीपी की समस्या में आप एक गिलास पानी में आधा चम्मच नमक मिलाकर इसका सेवन कर सकते हैं। इससे ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहेगा | नमक, त्रिफला पाउडर और नीम पाउडर एक साथ मिलाकर मिश्रण तैयार करें इसमें एक चुटकी मिश्रण लेकर इसे मसूड़ों की मसाज करें फिर गुनगुने पानी से कुल्ला करें इससे मसूड़ों से खून आना बंद हो जाएगा।

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply

Your email address will not be published.