बच्चे के जन्म के बाद मां को क्या खाना चाहिए

9

स्तनपान करने वाली माताओं के लिए हरी पत्तेदार सब्जियां बहुत ही अच्छी होती है। लेकिन सभी सब्जियों में पालक बहुत ही फायदेमंद सब्जी है। 

पालक में फोलिक एसिड होता है, जो नई रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में हेल्प करता है | जो महिलाओं के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। 

इससे उनके शरीर में खून बढ़ता है। बादाम में विटामिन, ओमेगा 3 फैटी एसिड्स जैसे कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जो आपके शरीर के स्वास्थ्य के साथ-साथ आपके बच्चे के स्वास्थ्य के लिए भी बहुत ही महत्वपूर्ण है। 

यह आपकी हड्डियों और दांतों को मजबूती प्रदान करता है और दुग्ध निर्माण का काम करता है। नई माताओं को कार्बोहाइड्रेट युक्त ब्राउन चावल का अपने आहार में समावेश करना चाहिए | 

ब्राउन चावल आपके ऊर्जा के स्तर और रक्त शर्करा के स्तर को सामान्य बनाए रखने में हेल्प करते हैं। यह स्तन के दूध की आपूर्ति और गुणवत्ता को बढ़ाने में हेल्प करेगा |  

स्तनपान कराने वाली माताओं को स्तन दूध उत्पादन को बढ़ाने के लिए अपने आहार में दूध को शामिल करना होगा। दूध में विटामिन बी, विटामिन बी के साथ-साथ प्रोटीन भी होता है, जो नवजात शिशु के विकास के लिए आवश्यक है।

दूध का स्वाद बढ़ाने के लिए आप उसमें ड्राई फ्रूट्स भी मिला सकते हैं। इसके अलावा दही, पनीर और अन्य डेयरी उत्पादों को भी अपने आहार में शामिल कर सकते हैं। 

सौंफ नई माताओं के लिए एक उत्कृष्ट सुपर फूड है, जो स्तनपान को बढ़ाने में हेल्प करता है और पाचन में भी सहायता करता है। 

मेथी कई पोषक तत्वों से भरपूर होती है, जो स्तन के दूध के उत्पादन में वृद्धि करती है। यह पाचन समस्या जैसे कि कब्ज, पेट फूलना जैसी समस्याओं को कम करने में सहायक है। इसलिए माताओं को इसका सेवन जरूर करना चाहिए। 

अंडा प्रोटीन का भी बहुत ही अच्छा स्रोत है। यह आपकी और आपके बच्चे की देखभाल करने के लिए आपको शक्ति और क्षमता प्रदान करेंगे। 

अंडे में मौजूद पोषक तत्व, बच्चे की हड्डियों को विकसित करते हैं |  जई का दलिया सबसे लोकप्रिय दुग्ध वर्धक खाद्य पदार्थ है | यह नई माताओं के लिए बहुत ही उपयोगी है, जो प्रसव के बाद कब्ज से पीड़ित होती है। 

माताओं को अपने आहार में ब्लूबेरी शामिल करना चाहिए। यह एंटी ऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होती है और आपके बच्चे को कई बीमारियों से बचाती है | 

सालमन मछली पोषक तत्वों से भरपूर होती है। इसमें एक ऐसा उच्च वसा है जो आपके नवजात शिशु के तंत्रिका तंत्र के विकास में हेल्प करता है।

डिलीवरी होने के बाद क्या-क्या खाना चाहिए

डिलीवरी के बाद बॉडी को फिट करने के लिए प्रोटीन की भरपूर मात्रा आवश्यक है, जो कि अंडे में अधिक होती है |

ऐसे में अंडे का सेवन करना बहुत ही जरूरी होता है। प्रसव के बाद शरीर में आयरन की कमी हो सकती है।

ऐसे में आयरन की मात्रा को भरपूर रखने के साथ-साथ शरीर को फिट रखने के लिए पालक का सेवन जरूर करें। 

कैल्शियम, विटामिन, प्रोटीन की मात्रा से भरपूर दूध का सेवन करने से महिला की हड्डियों के साथ शिशु की हड्डियों को भी मजबूत बनाने में सहायता मिलती है, जो मां और बच्चे के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही जरूरी है। 

इसलिए प्रसव के बाद दूध का सेवन जरूर करें। विटामिन और ओमेगा ३ से भरपूर बादाम का सेवन करने से महिलाओं को जल्दी फिट होने के साथ-साथ शिशु के बेहतर विकास में हेल्प करते हैं | 

इसलिए बादाम का सेवन जरूर करें। डिलीवरी के बाद आपको देसी घी भी जरूर खाना चाहिए। 

इससे महिलाओं के शरीर की कमजोरी दूर होती है। शरीर मजबूत बनता है, साथ ही शिशु के बेहतर विकास में भी हेल्प मिलती है। 

ओट्स का सेवन भी डिलीवरी के बाद महिलाओं को तनाव से दूर रखने के साथ महिला की बॉडी में आयरन और फाइबर की मात्रा को भरपूर रखने में हेल्प करता है। 

इसलिए डिलीवरी के बाद नाश्ते में ओट्स का सेवन जरूर करें | प्रसव के बाद बॉडी में पानी की कमी ना हो इसके लिए पानी का भरपूर सेवन करना चाहिए। 

पानी की कमी को पूरा करने के लिए आप नारियल पानी, गाजर का रस, सब्जियों का सूप भी पी सकती है। 

इसके साथ ही हरी पत्तेदार सब्जियों का भरपूर मात्रा में सेवन करें |  

ताजे मौसमी फल को अपने आहार में समावेश करे । साबुत अनाज का सेवन करें भरपूर मात्रा में दाल और उबले चावल खाए।

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े – 

Leave A Reply

Your email address will not be published.