बायो ऑयल क्या है

18

बायो ऑयल त्वचा के स्ट्रेस मार्च को कम करने का बहुत ही अच्छा उपाय है |  

बायो आयल प्रेगनेंसी के बाद स्ट्रेच मार्क के निशान, चेहरे की झुरिया, एंटी एजिंग त्वचा और हाइड्रेट स्किन को कम करने में हेल्प करता है। 

बायो ऑयल विटामिन A से भरपूर होता है, जो कि चेहरे के लिए काफी अच्छा होता है। 

बायो ऑयल को ड्राई ऑयल भी कहा जाता है | कुछ महीने तक हर रोज दिन में दो बार इसका उपयोग करने से जलन के निशान, चिकन पॉक्स या मुहांसों के निशान कम हो जाते हैं। 

बायो ऑयल डिलीवरी के बाद कुछ म हीने तक लगाते रहने से स्ट्रेच मार्क का असर कम हो जाता है। 

इसके अलावा स्ट्रेच मार्क्स का निशान को कम करने के लिए गर्भावस्था की तीसरी तिमाही से इसे लगाना शुरू करें। 

बायो ऑयल चेहरे के डार्क स्पॉट याने के काले धब्बोंको भी कम करने में मदद करता है |

अच्छी क्वालिटी का बायो ऑयल यहासे से खरीदें

बायो ऑइल आपकी त्वचा से कॉलेजों और त्वचा की लोच में सुधार करके झुर्रियों को कम करने में हेल्प करता है। 

बायो ऑयल में कई फायदे मौजूद होते हैं, जो एंटी एजिंग की समस्या का इलाज करते हैं। 

इस तेल को लगाने से आपकी त्वचा हमेशा स्वस्थ बनी रहेगी।

बायो ऑयल में मौजूद तेल त्वचा पर बहुत अच्छे से कार्य करते हैं। 

इससे त्वचा रूखी कोमल और मुलायम लगने लगती है। 

रात को सोते समय इस तेल को आप बालों पर भी लगा सकते हैं। 

इससे आपके बाल मुलायम और सुंदर बनेंगे | कुछ लोगों को बायो ऑइल सूट नहीं करता या अच्छे कंपनी का बायो ऑइल ना होने पर इसके कुछ दुष्परिणाम देखने को मिलते हैं। 

जैसे की चेहरे के कील मुंहासे बढ़ना, त्वचा में जलन और सूजन, लालिमा, मतली, डायरिया जैसे लक्षण देखने को मिलते हैं।

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply

Your email address will not be published.