दूध बढ़ाने के लिए क्या खाएं

10

बच्चे के लिए मां का दूध अमृत होता है। 

मां का दूध सबसे अधिक श्रेष्ठ बताया गया है। मां के दूध में वे सभी गुण होते हैं, जो एक बच्चे के पोषण के विकास के लिए जरूरी है। 

इसलिए बच्चे को 6 महीने तक मां के दूध के अलावा कुछ भी नहीं देना चाहिए |  

लेकिन अगर किसी महिला को डिलीवरी के बाद दूध नहीं आ रहा है, या पर्याप्त मात्रा में दूध नहीं बन रहा है तो यह बहुत चिंता की बात हो सकती है।

यहां पर हम आपको बताएंगे कुछ ऐसे उपाय जिससे मां के स्तनों में पर्याप्त मात्रा में दूध बन सकता है। 

सबसे जरूरी बात है, दूध पिलाने वाली स्त्री को कभी भी भूखा नहीं रहना चाहिए। उसे कोई भी व्रत नहीं करना चाहिए। 

स्त्री जो भोजन लेती है, उसी से दूध बनता है इसलिए आहार में गेहूं, जौ, चावल, दूध, दलिया, तिल, लहसुन, पत्तेदार सब्जियां, मौसमी फल आदि का भरपूर सेवन करने से मां के स्तनों में पर्याप्त मात्रा में दूध बन सकता है। 

भोजन में कच्चे प्याज का सेवन अधिक मात्रा में करने से माताओं के स्तनों में दूध की वृद्धि होती है। 

जब भी माताएं भोजन करे, तो कच्चे प्याज का सेवन जरूर करें |  

अंगूर दुग्ध वर्धक होता है। प्रसव काल में उचित मात्रा में अधिक रक्तस्राव हो, तो अंगूर के रस का सेवन बहुत अधिक प्रभावशाली होता है | 

खून की कमी की शिकायत में अंगूर के ताजे रस का सेवन बहुत उपयोगी होता है। क्योंकि यह शरीर में रक्त कणों की वृद्धि करता है। 

गाजर मां का दूध बढ़ाने में सहायक होता है | मां के स्तनों पर दिन में दो-तीन बार एरंड के तेल की मालिश करने से स्तनों में दूध की वृद्धि होती है | 

पका पपीता खाने से या कच्चे पपीते की सब्जी बनाकर खाने से स्तनों में दूध बढ़ता है। इसके लिए इसे 20 दिन तक लगातार खाना जरूरी है | 

 50 ml व्हीटग्रास जूस में एक चम्मच शहद मिलाकर दिन में दो बार पी लें | 

जीरा, सौंफ और मिश्री समान मात्रा में लेकर सुबह शाम 10  ग्राम खूब चबा चबाकर खाएं | ऐसा करने से बहुत मात्रा में दूध बनेगा | 

50 ग्राम काबुली चने रात को दूध में भिगोकर रख दें। सुबह के समय दूध को छानकर अलग करें | 

इसके बाद इन चने को खूब चबा चबाकर खाएं | ऊपर से उस दूध को गर्म करके पीने से स्त्रियों के दूध में पर्याप्त मात्रा में वृद्धि होती है। 

इसके अलावा स्तनपान करने वाली महिलाओं को दिन में जूस और अन्य पदार्थों के साथ तीन-चार लीटर तक पानी पीना बहुत जरूरी है। 

जब भी स्तनपान कराए, उससे पहले एक गिलास पानी पीना काफी लाभदायक होता है। 

इसके साथ ही एक गिलास गर्म दूध में सुबह शाम एक चम्मच शतावरी चूर्ण लेने से दूध में वृद्धि होती है।

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply

Your email address will not be published.