एक्जिमा क्या है

17

एक्जिमा एक ऐसी स्थिति है जिसमें शरीर की त्वचा में दाग, धब्बे और सूजन उत्पन्न हो जाती है। यह गंभीर खुजली, लाल चकत्ते, फटी और रूखी त्वचा का कारण बनती है। 

कभी-कभी त्वचा पर छाले भी पड़ सकते हैं। 

एक्जिमा के लक्षण 

त्वचा में खुजली एक्जिमा का प्रमुख लक्षण है। यह रोग समय के साथ-साथ अधिक गंभीर होता जाता है। अगर इसका इलाज नहीं किया जाता तो यह और भी रोगों को संक्रमित करता है |  

जो इसके संपर्क में आते हैं समय के साथ त्वचा मोटी हो सकती है और त्वचा में कठोरता निर्माण हो सकती है। उंगलियां, पैर की उंगली, हथेलियों और पैरों के तलवे पर तरल द्रव से चमड़ी उभर सकती हैं। 

प्रभावित त्वचा को खरोंच ने पर छोटे घांव दिखाई दे सकते हैं, और उनमें तरल पदार्थ का रिसाव भी हो सकता है।

बच्चों को अक्सर सिर की त्वचा पर लाल धब्बे उत्पन्न होना, लाल दाग वाली त्वचा में हल्की या घरी सिकुड़न आना, चलने के दौरान पैरों के निचले भाग में सूजन होना, हाथ लाल होना तथा खुजली होना |  

एक्जिमा के कारण 

पर्यावरण, वातावरण का गर्म और ठंडा तापमान भी एक्जिमा का कारण बन सकता है। सूक्ष्मजीव, बैक्टीरिया जैसे स्टेफिलोकोक्कस ऑरियस वायरस और कुछ कवक भी इसमें शामिल है। 

जेनेटिक्स के कारण हार्मोन एक्जिमा के उत्पन्न होने का प्रमुख कारण है। उत्तेजक पदार्थों से साबुन, डिटर्जेंट, शैंपू कीटाणु शोधक ताजे फल या सब्जियों के रस शामिल है। 

एक्जिमा को एक अनुवांशिक रोग माना जाता है, जो पीढ़ी दर पीढ़ी आगे बढ़ सकता है। एक्जिमा को बढाने वाले साबुन और क्लींजर, क्लोरीन, सिगरेट का धुंआ, मेकअप, धुल पर्यावरण उत्तेजक पदार्थों से सावधानियां बरते | 

हमेशा गर्म जल से स्नान करें। हमेशा मुलायम कपड़े पहने, टाइट कपड़ों का इस्तेमाल बिल्कुल भी ना करें | नहाने के बाद त्वचा को रगड़ने के बजाय हवा में सुखाएं या धीरे-धीरे तालियों के साथ त्वचा को साफ करें | 

खुजली या खरोंच के कारण त्वचा को नुकसान होने से रोकने के लिए नाखूनों को छोटा रखें | नमी को रोकने के लिए प्रतिदिन नहाने के तुरंत बाद मॉइस्चराइजर का प्रयोग करें।

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply

Your email address will not be published.