गले में खराश होने के कारण

43

गले में दर्द होने पर बहुत परेशानी होती है। ऐसे समय में बात करते समय, कुछ भी खाते पीते समय बहुत तेज दर्द होता है, जिसके कारण बोलने में भी बहुत तकलीफ होती है। 

खांसी, जुकाम के शुरुआत में गला दर्द करने लगता है। किसी इंफेक्शन की वजह से भी गला खराब हो जाता है। धूल में कई तरह के वर्म्स होते हैं, जिसके कारण में गले में दर्द होने लगता है |  

बहुत ही ज्यादा ठंडी चीजें खाने से गले में दर्द होता है | ठंडी हवा भी अगर आपके नाक में मुंह में चले जाती है, तो आपका गला खराब हो सकता है। 

गले का दर्द सबसे खराब दर्द होता है। इससे जीना बहुत मुश्किल हो जाता है। अगर आपको इस तरह की समस्या होती है, तो आपको सबसे पहले गर्म पानी पीना शुरू करना चाहिए। 

दर्द ठीक होने के 2 दिन बाद भी आपको गर्म पानी ही पीना चाहिए। हल्दी और नमक मिले गुनगुने पानी से दिन में दो-तीन बार गरारे करने से आपको तुरंत राहत मिलेगी इससे आपके गले की सूजन भी कम हो जाती है।

शहद एक प्राकृतिक औषधि है, गले के दर्द में आप इसका सेवन कर सकते हैं। एक छोटे चम्मच अजवाइन को शहद के साथ मिलाकर सेवन करने से आपको फायदा मिलेगा |  

गले के दर्द में आप थोड़ा सा बेकिंग सोडा और नमक को गुनगुने पानी में मिलाकर इससे गरारे कर सकते हैं। इससे आपको बहुत जल्दी आराम मिलेगा |  

गले की खराश दर्द को कम करने के लिए लोंग, अदरक को मुंह में रखकर उसका रस चूसने से फायदा मिलता है। आप इसको एक के बाद एक ऐसा करके उपयोग कर सकते हैं। 

लहसुन में बैक्टीरिया को मारने के गुण होते हैं, गले को ठीक करने के लिए आप कच्चे लहसुन को चबाकर खा सकते हैं। लेकिन यह बहुत ही तीखा होता है, इसलिए आप इसको शहद के साथ खा सकते हैं। 

तुलसी के पत्तों में एंटीबायोटिक गुण मौजूद होते हैं, जो आपके गले की खराश को ठीक कर सकते हैं। इसके लिए आप तुलसी के पत्तों को चबाकर खा सकते हैं, या इसकी चाय पी सकते हैं। 

हल्दी औषधीय गुणों से समृद्ध है। गले के दर्द को ठीक करने के लिए हल्दी को गर्म दूध में मिलाकर इसका सेवन करें | आप हल्दी को गर्म पानी में भी मिलाकर इसका सेवन कर सकते हैं।

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply

Your email address will not be published.