गर्भवती महिला को कौन सा फल खाना चाहिए

19

गर्भावस्था में अमरूद खाना बहुत ही अच्छा है। इसे खाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत बनती है।

इसके सेवन से ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है। सेब में विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन डी और जिंक मौजूद होता है। सेब आपके बच्चे की प्रतिरक्षा और शक्ति को बढ़ाता है। यह घबराहट अस्थमा और एक्जिमा के जोखिम को कम करने में हेल्प करता है।

गर्भवती को आम खाना बेहद पसंद होता है। इसे खाने से कब्ज की समस्या दूर हो जाती है। आपको कई तरह की बीमारियों से बचाता है | इसे खाने से पाचन तंत्र सही रहता है।

तरबूज में विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन बी सिक्स, मैग्नीशियम, पोटेशियम होता है। इसके सेवन से हाथ और पैर की सूजन कम हो जाती है |

इसके अलावा मांसपेशियों की ऐंठन को कम करने का काम करता है और पानी की कमी को पूरा करता है | किवी कई सारे पोषक तत्वों का खजाना है। इसे खाने से खांसी और घबराहट की समस्या दूर हो जाती है।

यह मानव श्वसन प्रणाली को सही करने में हेल्प करता है। कीवी के सेवन से गर्भवती की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत बनती है।

हर तरह की बेरी एंटीऑक्सीडेंट का खजाना होती है। बेरीज में स्ट्रॉबेरी, जामुन, ब्लू बेरी प्रेग्नेंसी के समय बिना किसी डर के खा सकती है।

चीकू गर्भावस्था के दौरान बहुत ही अच्छा होता है। चीकू इलेक्ट्रोलाइट, विटामिन ए, कार्बोहाइड्रेट और ऊर्जा से भरे होते हैं |

चीकू गर्भवती को चक्कर आना और मतली की प्रॉब्लम से बचाता है। इसे खाने से पेट की समस्या दूर हो जाती है। केला एक बहुत ही स्वादिष्ट फल है। इसमें फोलेट, विटामिन, पोटैशियम, मैग्निशियम बहुत ही अच्छी मात्रा में मौजूद होता है।

इसमें मौजूद सोडियम गर्भवती की मतली और उल्टी को रोकता है उसमें भी प्रेगनेंसी में बहुत ही लाभकारी है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट बच्चे के स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है।

प्रेगनेंसी में खट्टा खाने का मन क्यों करता है

गर्भावस्था महिला और उसके परिवार के जीवन का सबसे महत्वपूर्ण समय होता है | 

इस समय में महिला की खाने की हर ख्वाहिश पूरी की जाती है। लेकिन कुछ महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान खट्टा खाने की बहुत इच्छा होती है। 

इमली, अचार, खट्टे फल उन्हें बहुत अच्छे लगने लगते हैं। 

इस तरह कुछ महिलाओं की और भी अजीब ख्वाहिश होती है। उन्हें मिट्टी, मिट्टी के बर्तन और सुखी दीवार की मिट्टी खाने की इच्छा होती है। 

लेकिन महिलाओं को यह सब चीजें खाने की इच्छा क्यों होती है? इसके बारे में कोई भी साइंटिफिक रीजन उपलब्ध नहीं है। 

आमतौर पर यह हार्मोन से संबंधित हो सकता है, जो गर्भावस्था में सक्रिय होते हैं। यह हार्मोन गंद की भावना को मजबूत बना सकते हैं | 

आपके स्वाद की भावना को प्रभावित कर सकता है और आपको कुछ खाद्य पदार्थों को खाने के लिए मजबूर कर सकता है। कभी-कभी आहार में कुछ कमी या विटामिनों और खनिजों की बढ़ती जरूरत के कारण हो सकता है।

प्रेगनेंसी में कीवी के फायदे

पका हुआ कीवी का फल फल खाना गर्भावस्था में बहुत फायदेमंद है।

इसमें विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन इ, पोटेशियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, फाइबर जैसे कई सारे पोषक तत्व मौजूद होते है |

कीवी मानव श्वसन प्रणाली को सही रखने का काम करता है। इससे खांसी और घबराहट की समस्या दूर हो जाती है |

कीवी मैं भरपूर मात्रा में फोलिक एसिड मौजूद होता है |

गर्भावस्था में कीवी खाने से होने वाले बच्चे का मानसिक विकास सही तरीके से होता है।

कीवी फल पेट की बीमारियों के लिए काफी फायदेमंद होता है।

रोज एक कीवी खाने से पेट से संबंधित बीमारियां नहीं होती |

कीवी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन सी गर्भवती को कई तरह के इंफेक्शन से सुरक्षित रखते हैं।

गर्भावस्था में कीवी खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत बनती है |

कीवी में फाइबर भरपूर मात्रा में मौजूद होता है।

गर्भावस्था में हर रोज एक से दो कीवी खाने से कब्ज की समस्या में फायदा मिलता है |

साथ ही इसके सेवन से पाचन क्रिया दुरुस्त रहती है।

Buy D’Nature Dehydrated Kiwi 250gm

कीवी कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में सहायक है।

इसके नियमित सेवन से शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ती है।

गर्भावस्था में कीवी खाने से दिल की बीमारियों का खतरा कम हो जाता है।

कीवी खाने से पैरों की सूजन कम हो जाती है |

कीवी मैं भरपूर मात्रा में पोटेशियम मौजूद होता है | जो गर्भवती की हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूती प्रदान करता है।

इस तरह कीवी खाने के बहुत ही फायदे हैं। इसलिए गर्भावस्था में कीवी जरूर खाये।

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply

Your email address will not be published.