गुलकंद

6

गुलाब की ताजा पंखुड़ियाँ और मिश्री मिलाकर बनाया गया गुलकंद स्वाद में बेहद ही स्वादिष्ट होता है। 

गुलकंद शरीर के अंगों को ठंडक प्रदान करता है और शरीर में गर्मी बढ़ जाने पर गुलकंद का सेवन बेहद लाभदायक होता है। 

गुलकंद से गर्भाशय, मूत्राशय और मलाशय की बढ़ी हुई गर्मी दूर होती है। 

गुलकंद का नियमित सेवन करने से रक्त विकार दूर होते हैं। हर रोज सुबह शाम गुलकंद खाने से ज्यादा पसीना आना और शरीर बदबू आने की समस्या दूर हो जाती है। 

इससे पेट साफ रहता है। 

गुलकंद से भूख बढ़ती है, शरीर में ताकत आती है या दिमाग और अमाशय की शक्ति को बढ़ाता है |  

भोजन के बाद गुलकंद खाना दिमाग के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। 

आंखों की रोशनी बढ़ाने और ठंडक प्रदान करने के लिए गुलकंद का उपयोग करना बेहतर तरीका है |  

आँखों के साथ साथ यह मुँह के लिए भी लाभदायक है |

मुंह के छाले और त्वचा की समस्या में गुलकंद बहुत ही लाभकारी है। 

थकान और शरीर में ऊर्जा की कमी होने पर आप गुलकंद का सेवन कर सकते हैं। 

कब्ज की समस्या में गुलकंद बहुत ही लाभकारी है। 

रोजाना गुलकंद का सेवन करने से कब्ज से छुटकारा मिलता है | 

भूख को बढ़ाने और पाचन तंत्र को सुधारने में गुलकंद बहुत ही लाभकारी है | 

इसका नियमित सेवन शरीर के लिए बहुत ही लाभकारी है। 

हर रोज सुबह-शाम एक-एक चम्मच गुलकंद खाने से दिमाग को शक्ति मिलती है और दिमाग शांत रहता है। 

हर रोज सुबह-शाम एक-एक चम्मच दूध के साथ गुलकंद खाने से नकसीर का पुराने से पुराना रोग भी ठीक हो जाता है।

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply

Your email address will not be published.