गुर्दे की पथरी

4

गुर्दे की पथरी का कारण

पेशाब में जब पथरी बनाने वाले जैसे की यूरिक एसिड कैल्शियम oxalates की मात्रा नॉर्मल से ज्यादा होने लगती है और जब किडनी इन्हे बाहर नहीं निकाल पाती तब यह किडनी में ही जमा होने लगते हैं जो धीरे-धीरे  पथरी का रूप लेते हैं। शरीर में कैल्शियम की मात्रा अधिक होना,  पानी कम पीना,यूरिन में इन्फेक्शन होना,  पेशाब रुकना जैसी समस्या से गुर्दे में पथरी होने का खतरा अधिक होता है।

गुर्दे की पथरी का लक्षण

  1. गुर्दे की पथरी में दर्द की शुरुआत पीठ से होती है। फिर आगे की तरफ पेट में दर्द होता है जो धीरे-धीरे जांघों की ओर बढ़ता है।
  2. पेशाब में खून आना पथरी का लक्षण है।
  3. यूरिन में इंफेक्शन बुखार आना गुर्दे की पथरी का लक्षण है।
  4. पेशाब में जलन होना पेशाब रुक रुक कर आना भी पथरी का ही लक्षण है।
  5. इसमें पेशाब से बदबू भी आने लगती है।
  6. कभी-कभी उल्टी की शिकायत भी होने लगती है।

गुर्दे की पथरी का उपाय

नींबू में साइट्रिक एसिड मौजूद होता है जो शरीर में कैल्शियम की मात्रा को बढ़ने से रोकता है। दर्द के दौरान नींबू पानी का सेवन करने से जल्दी आराम मिलता है।

अजवायन को पानी में उबाल कर छान लें और इसका सेवन करें। इससे दर्द में आराम मिलता है।

हर रोज 5-6 लीटर तक पानी का सेवन जरूर करें इससे पथरी निकल जाएगीl

केले में मौजूद पोषक तत्व पथरी को बढ़ने से रोकते हैं और दर्द से मुक्ति दिलाते हैं।

बेलपत्र के साथ काली मिर्च लेने से गुर्दे की पथरी पेशाब के रास्ते शरीर से बाहर निकल जाती है।

अंगूर  में पोटेशियम और पानी की अधिक मात्रा होती है जो कि गुर्दे की पथरी का इलाज करती है।

पथरी के दर्द का इलाज करने के लिए एलोवेरा जूस बहुत ही लाभकारी है।

प्याज में विटामिन बी और पोटेशियम होते हैं जो पथरी को बढ़ने से रोकते हैं। प्याज के रस में शक्कर मिलाकर पीने से पथरी का दर्द ठीक हो जाता है।

रात को सोने से पहले दो गिलास पानी में दो चम्मच मिश्री दो चम्मच सौंफ और दो चम्मच सूखा धनिया भिगोकर रखें और सुबह इस पानी को छानकर खाली पेट इसका सेवन करें। इससे पथरी निकल जाएगीl 

हर रोज खाली पेट पर्णबीज के पत्ते को चबाचबा कर खाएं। इससे गुर्दे की पथरी में आना आराम मिलेगाl 

क्या खाएं क्या ना खाएं

पथरी की समस्या में चुना नहीं खाना चाहिए। इससे में कैल्शियम होता है जो पथरी को बढ़ा सकता है।

बीज वाले फल और सब्जियां जैसे टमाटर,  बैंगन,  गवार,  खरबूजा अमरुद का सेवन नहीं करना चाहिए।

नारियल पानी,केला,  चना, गाजर, राजमा करेले का सेवन पथरी को बढ़ने से रोकता है।

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply

Your email address will not be published.