हीमोफीलिया क्या है

27

हीमोफीलिया एक ऐसी स्थिति है जिसमें रक्तस्राव काफी लंबे समय तक होता है | 

यह एक जन्मजात बीमारी है जो सामान्य रूप से वंशानुगत होती है | कुछ दुर्लभ मामलों में यह जन्म के बाद भी विकसित हो सकती है | 

महिलाओं की तुलना में यह पुरुषों को अधिक प्रभावित है | वैसे तो हीमोफीलिया की घटनाएं बहुत कम देखने को मिलती है लेकिन इसके बारे में जानकारी होना बहुत जरूरी है | 

हीमोफीलिया के लक्षण 

  • नाक से खून आना जो आसानी से बंद नहीं होता
  • मूत्र में रक्त आना 
  • आसानी से घायल होना 
  • चोट लगने पर बहुत ज्यादा खून 
  • महिला के जोड़ों में दर्द या सूजन
  • दांत प्रक्रिया जैसे कि रूट कैनाल थेरेपी, दांत निकलते वक्त बहुत ज्यादा रक्तस्राव होना 

कई गंभीर मामलों में हफ्ते में एक दो बार अचानक खून बहना शुरू हो जाता है जिसका कोई कारण नहीं होता और यह रक्तस्राव शरीर के जोड़ों और मांसपेशियों में से आ सकता है और इससे जोड़ों में दर्द सूजन शुरू हो जाती है |  

जोड़ों में बार-बार रक्तस्राव घटिया का कारण बनता है हिमोफीलिया की बारे में पता लगने पर इसका सही उपचार भी उपलब्ध है |  योग्य उपचार न मिलने पर यह बीमारी जानलेवा भी हो सकती है | हीमोफीलिया और अन्य रचनाकारों के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए 17 मार्च को विश्व हीमोफीलिया दिन मनाया जाता है | 

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े 

Leave A Reply

Your email address will not be published.