प्रेगनेंसी में खजूर खाने के फायदे

21

आज खजूर खाने के फायदे जानेंगे

गर्भवती महिलाएं जो भी आहार देती है उसी से बच्चे का पोषण होता है। अगर महिला का आहार अच्छा नहीं होता है तो इसे बच्चे का विकास अच्छी तरह से नहीं हो पाता और बच्चा कुपोषित बनता है। निरोगी और स्वस्थ बच्चे के लिए मां को पोषक तत्वों से भरपूर आहार लेने की आवश्यकता है। 

खजूर पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थ है। खजूर विटामिन और खनिजों का एक अच्छा स्रोत है। खजूर का स्वाद मीठा होने के कारण इससे बहुत जल्दी एनर्जी मिलती है। खजूर में राइबोफ्लेविन, नियासिन, विटामिन ए, विटामिन के, विटामिन सी भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। साथ ही इसमें कैल्शियम,  लोहा,  सोडियम,  पोटेशियम,  मैग्नीशियम,  जस्ता जैसे खनिज  तत्व मौजूद होते हैंl  इसके अलावा खजूर फाइबर का एक बहुत ही अच्छा स्रोत हैl   

खजूर एनर्जी बढाता है

गर्भावस्था में महिलाओं को मतली,  उल्टी की समस्या होती हैl जिसके कारण उन्हें कुछ भी खाने की इच्छा नहीं होतीl जिसकी वजह से शरीर में कमजोरी आती हैl  ऐसे वक्त में अगर आप खजूर कहते हैं तो इससे आपको तुरंत एनर्जी मिल जाएगी | 

खजूर खून बढ़ाए

गर्भवती महिलाओं के शरीर में हीमोग्लोबिन का योग्य स्तर होना बहुत जरूरी है। आयरन की कमी से महिला एनीमिया का शिकार बन सकती है। इससे बच्चे के विकास में बाधा आ सकती है l डिलीवरी के दौरान कई समस्याएं हो सकती है। इन सब से बचने के लिए खजूर एक बहुत ही अच्छा उपाय है। 

खजूर एक बहुत ही स्वादिष्ट फल हैlइसमें मौजूद लोहा शरीर में खून को बढ़ाता हैl  जिससे एनीमिया का खतरा नहीं रहता |

खजूर हड्डियों को मजबूत बनाता है

गर्भावस्था में नियमित रूप से खजूर खाने से मां और बच्चा दोनों की हड्डियां मजबूत बनती हैl  खजूर में मौजूद कैल्शियम और फास्फोरस हड्डियों को मजबूत बनाते हैं।

कब्ज को करें दूर

अक्सर गर्भवती महिलाओं को कब्ज की शिकायत होती है। कब्ज के कारण गर्भावस्था में बवासीर की समस्या भी हो सकती है। इससे बचने के लिए गर्भवती महिलाओं को अपने आहार में ज्यादा से ज्यादा फाइबर का समावेश करना होगाl  खजूर का नियमित सेवन करके भी आप कब्ज की समस्या से दूर रह सकती है। 

दिमाग को बनाएं तेज

जो महिलाएं गर्भावस्था में खजूर का सेवन करती है। उनके बच्चे के दिमाग का विकास भी अच्छी तरह से होता हैl  बच्चे की याददाश्त मजबूत बनती है।

बच्चे का वजन बढ़ाए

जन्म के समय तक बच्चे का लगभग वजन 3 किलो होना जरूरी है। बच्चे का वजन कम होने के कारण बच्चा कमजोर रहता है। बच्चे का वजन बढ़ाने के लिए गर्भावस्था में खजूर को दूध में भिगोकर इसका सेवन करेंl  दूध और खजूर का सेवन करने से बच्चे को कई तरह के पोषक तत्व मिलते हैं और शरीर का विकास भी अच्छी तरह से होने लगता है।

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply

Your email address will not be published.