कोकम के फायदे

4

कोकम तेल बहुत ही पोषक होता है | शरीर को शक्तिशाली बनाता है | फेफड़ों के रोग, टीबी और कंठमाला में यह बहुत ही फायदेमंद है |  कोकम का तेल गर्म करके हाथ पैर और तलवों पर लगाने से जलन दूर होती है |

कोकम का चूर्ण दही की मलाई में मिलाकर सेवन करने से खूनी बवासीर ठीक हो जाता है | कोकम के पके फल का शरबत सुबह-शाम पीने से पित्त शांत होता है |  

कोकम को पीसकर उसमें चीनी मिलाएं पानी में घोलकर पीने से गले की जलन दूर होती है | यह प्यास दूर करने का सबसे बेहतरीन उपाय है |  

इसे पीने से आपको बहुत अच्छी नींद आएगी | अनिद्रा की समस्या में यह काफी फायदेमंद है | कोकम के फलों का घोल 40 से 80 मिलीलीटर की मात्रा में प्रतिदिन सुबह-शाम पीने से दस्त रोग में लाभ मिलता है |  

१०० ग्राम कोकम पानी में भिगोकर जीरा और चीनी मिलाकर पीने से शीत पित्त रोग ठीक हो जाता है | 

कोकम का तेल घाव पर लगाने से घाव जल्दी भरते है | कोकम का तेल गर्म करके दो से 20 मिलीलीटर की मात्रा में दिन में दो-तीन बार पीने से दस्त में खून आना बंद हो जाता है | 

कोकम के फलों का घोल 40 से 80 मिलीलीटर की मात्रा में सुबह-शाम सेवन करने से दस्त में खून आना बंद हो जाता है | 

कोकम का सिरप सुबह-शाम सेवन करने से दस्त में आव आना बंद होता है | 

कोकम का शरबत बनाकर सुबह-शाम पीने से रक्त पित्त का रोग दूर हो जाता है | कोकम, इलायची और चीनी को एक साथ मिलाकर पीने से अम्लपित्त में फायदा होता है | 

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply

Your email address will not be published.