बैद्यनाथ कुमार कल्याण रस

185

कुमार कल्याण रस(Kumar Kalyan Ras) भैषज्य रत्नावली ग्रन्थोक्त आयुर्वेदिक मेडिसिन है। 

कुमार कल्याण रस घटक

  1. रससिंदूर
  2. मोती भस्म
  3. स्वर्ण भस्म 
  4. अभ्रक भस्म
  5. लोह भस्म
  6. स्वर्ण माक्षिक भस्म।

रससिंदूर 

यह वात पित्त कफ दोष को संतुलित करती है। शरीर की इम्यूनिटी पावर को सुधारने का काम करती है। हार्ट डिसीज, डाइजेस्टिव प्रॉब्लम्स, यूरिनरी ट्रैक इंफेक्शन के इलाज के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है।

मोती भस्म

मोती भस्म एक नेचुरल कैलशियम सप्लीमेंट है। कैलशियम हड्डियां, जॉइंट्स, मसल को मजबूत बनाता है। साथ ही बच्चों के पाचन तंत्र के लिए बहुत ही उपयोगी होता है। यह बच्चों के दिमागी संतुलन के लिए भी बहुत ही अच्छी औषधि है l 

स्वर्ण भस्म

यह एक बहुत ही अच्छा टॉनिक है। स्वर्ण भस्म बच्चों की इम्युनिटी को बढ़ाने का काम करता है। बच्चों के बौद्धिक विकास के लिए, मेमोरी पावर को बढ़ाने के लिए, मानसिक संतुलन को बनाने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है। लंबी आयु के लिए यह एक बहुत ही अच्छी औषधि है। यह रस,रक्त, मांस, शुक्र धातु की वृद्धि करता है।

अभ्रक भस्म

मेटाबॉलिज्म को स्वस्थ रखता है। शरीर में खून की मात्रा को बढ़ाता है । फिजिकल स्टैमिना को बढ़ाता है।

लोहा भस्म  

यह खून की कमी को दूर करता है जिससे एनीमिया की समस्या में फायदा मिलता है | लोहा भस्म के सेवन से रक्त में लाल कोशिकाओं की संख्या बढ़ने लगती है, जिससे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। लोहा भस्म भूख को बढ़ाता है और पित्त के रोगों का नाश करता है। इसके सेवन से शारीरिक कमजोरी दूर होती है। यह औषधि लीवर के लिए बहुत ही फायदेमंद है। 

स्वर्ण माक्षिक भस्म

स्वर्ण माक्षिक भस्म कफ पित्त को संतुलित करती है lशरीर में खून को बढ़ाती है l बुखार को कम करती है। 

पीलिया की बीमारी को ठीक करती है। यह पेशाब की जलन को रोकते हैं। कुमार कल्याण रस एक ब्रॉड-स्पेक्ट्रम औषधि है जो शरीर के हर एक अवयव पर काम करती हैं। यह हार्ट,फेफड़े, ब्रेन, पाचनतंत्र, नर्वस सिस्टम, यूरिनरी सिस्टम पर अच्छा असर दिखाती है।

यह बच्चों को खांसी, अस्थमा, सूखा रोग जैसी बीमारी से बचाती है। यह शरीर की इम्युनिटी पावर को मजबूत बनाती है। शरीर में ऊर्जा का निर्माण करती है। बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास को बढ़ावा देती है।

कुमार कल्याण रस मात्रा –

आधे से एक गोली सुबह शाम शहद के साथ ले सकते हैं |

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply

Your email address will not be published.