लौह भस्म के फायदे

28

लोह भस्म एक रसशास्त्र की औषधि है जिसका कई भस्म,चूर्ण बनाने के लिए उपयोग किया जाता है। इससे हमे लौह भस्म के फायदे मिलते है |

लोह भस्म लोहे से प्राप्त होने वाला लोहे का ऑक्साइड होता है। इसके सेवन से रक्त में लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण होता है।

लोह भस्म बनाने के लिए शुद्ध लोहे को हर्बल रस के साथ संसाधित किया जाता है और फिर भस्म या लोहे की राख बनाने के लिए उच्च तापमान के तहत शांत किया जाता है।

लोह भस्म में पाचक, उत्तेजक,  कफपित्तनाशक,स्तम्भक वसादाहक, लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण करने वाले बिलीरुबिन को कम करने वाले गुण मौजूद होते है | आईये जानते है लौह भस्म के फायदे

लौह भस्म के फायदे 

  • एनीमिया – शरीर में खून की कमी से व्यक्ति एनीमिया का शिकार बन जाता है। एनीमिया में व्यक्ति की हिमोग्लोबिन लेवल कम होने लगती है। लोह भस्म का सेवन खून की कमी को दूर करता है। शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण करता है।जिससे हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ने लगता है और व्यक्ति एनीमिया की समस्या से दूर रहता हैl 
  • भूख बढ़ाए – लोह भस्म में पाचक, और उत्तेजित गुण मौजूद होते हैं जो अग्नि को प्रदीप्त करने का काम करते हैं और भोजन का अच्छी तरह से पाचन करते हैं जिससे कि व्यक्ति को अच्छे से भूख लगने लगती है।
  • थकान दूर करें –  लोहा भस्म से व्यक्ति को अच्छी तरह से भूख लगने लगती है। अच्छी तरह से भोजन करने से व्यक्ति को ऊर्जा मिलती है जिससे कि व्यक्ति के शारीरिक थकान दूर होती है। साथ ही साथ मानसिक कमजोरी भी दूर होती है।
  • पीलिया को ठीक करें – पीलिया यानी की Jaundice की बीमारी में बिलीरूबिन का स्तर बढ़ने लगता है। लोह भस्म बिलीरूबिन के स्तर को कम करने का काम करता है।
  • रसायन वाजीकरण – रसायन वाजीकरण औषधि का सेवन करने से व्यक्ति की मैथुन शक्ति बढ़ने लगती है। लोह भस्म एक रसायन वाजीकरण औषधि है। इसके सेवन से शरीर पुष्ट होता है।
  • सूजन को कम करें– खून में आरबीसी की संख्या कम होने पर और शरीर में पानी जमा होने पर व्यक्ति के शरीर में सूजन आने लगती है।लोह भस्म खून में रक्ताणुओं की वृद्धि करता है जिससे शरीर में जमा पानी कम होने लगता है।
  • रक्त प्रदर – रक्त प्रदर में महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान अतिरिक्त स्त्राव होने लगता हैl इससे महिलाओं के शरीर में कमजोरी आती है। लोह भस्म रक्त प्रदर को ठीक करता है। इसके साथ ही यह श्वेत प्रदर को भी ठीक करने में लाभकारी है।
  • ज्वर – लोह भस्म सभी प्रकार के ज्वर को ठीक करता है। साथ ही यह शरीर की दुर्बलता को कम कर के  शरीर में उर्जा निर्माण करता है।
  • श्वसन विकार– श्वसन विकारों में व्यक्ति को सांस लेने में दिक्कत होने लगती है। खासी आने लगती हैl  लोह भस्म अस्थमा और श्वसन विकारों को ठीक करने में सहायता करता है।
  • टाइफाइड,  अतिसार, कृमि,   प्लीहा रोग,कुष्ठ, कमजोर याददाश्त में भी लौह भस्म गुणकारी है |

लोह भस्म मात्रा

125mg – 250mg तक की एक गोली दिन में दो बार सुबह-शाम भोजन के बाद ले सकते हैं।

इस गोली का सेवन शहद या घी के साथ करें।

पथ्य

खट्टे पदार्थों,  तले हुए व्यंजन,  मांस, मछली मिर्च, बैंगन, उड़द दाल करेला का सेवन ना करें।

इस गोली के सेवन से गैस, अपच, कब्ज की समस्या हो सकती है। घबराहट, मतली की समस्या भी हो सकती है।

किसी भी दवाई का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply

Your email address will not be published.