मुंह में छाले होने के कारण

14

एलोपैथिक दवाओं के दुष्प्रभाव की वजह से मुंह में छाले हो सकते हैं। विशेषकर लंबे समय तक एंटीबायोटिक दवाओं का इस्तेमाल करने से मुंह में छाले बन सकते है |  

अधिक मात्रा में एंटीबायोटिक का इस्तेमाल करने से हमारी आंतों में लाभदायक बैक्टीरिया की संख्या घट जाती है, जिसके कारण मुंह में छाले पैदा हो जाते हैं। 

विटामिन B12, आयरन और फोलिक एसिड जैसे पोषक तत्वों की कमी के कारण मुंह में छाले बन सकते हैं | खट्टी चीजें जैसे नींबू, टमाटर, संतरा और स्ट्रॉबेरी जैसे फलों का अधिक सेवन करने से मुंह में छाले हो जाते हैं। 

ज्यादा टूथ ब्रश करने से और जोर लगाकर ब्रश करने से मुंह में छाले हो जाते हैं | अधिक तनाव और चिंता के कारण आपके शरीर में स्थित अल्सर को प्रभावित करने वाले केमिकल का स्राव होता है, जिसके कारण बार बार मुंह में छाले पड़ने लगते हैं |  

इससे बढ़िया माउथ अलसर याने की मुँह के छालोंका जेल आपको कही नहीं मिलेगा

शरीर में हार्मोन के स्तर में परिवर्तन के कारण भी मुंह में छाले होते हैं | आमतौर पर यह मासिक धर्म के दौरान कुछ महिलाओं में देखने को मिलते हैं। 

कुछ बीमारियां से जैसे की सीलिएक रोग, वायरल संक्रमण और प्रतिक्रियाशील गठिया के कारण भी आपको बार-बार छाले आ सकते हैं। 

कैंसर की कीमोथेरेपी ट्रीटमेंट के बाद भी मुंह में छाले आ सकते हैं। एचआईवी संक्रमित व्यक्ति में भी बार बार मुंह के छाले आते हैं। 

वायरल इन्फेक्शन में मुंह में छाले आने की समस्या निर्माण होती है। पान मसाला, धूम्रपान, तंबाकू के सेवन से भी मुंह में छाले आने लगते हैं |  

पेट साफ ना होने के कारण या पेट की गर्मी की वजह से छाले उत्पन्न हो जाते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.