नागबला (Nagbala)

22

क्या आप शरीर की कमजोरी से परेशान है l बहुत कोशिश करने के बाद भी आपका वजन नहीं बढ़ता है l थोड़ा भी काम करने पर आपकी मांसपेशियां थक जाती है l 

जो लोग बहुत दुबले-पतले होते हैं उनमें वात दोष बहुत ज्यादा होता है l शरीर में वात दोष बढ़ने पर आपका शरीर दर्द करने लगता है, ऐसे में आपका मन किसी भी काम में नहीं लगता l 

ऐसी कई सारी परेशानियों के लिए नागबला एक बहुत ही लाभकारी और गुणकारी औषधि है l इसके लिए आपको अच्छी जगह से नागबला को प्राप्त करना होगा l 

इसके पत्तों को साफ करके इस को पीसकर रस निकालें इसमें घी या शहद मिलाकर हर रोज सुबह सुबह इसका सेवन करें l 

कुछ घंटों के बाद चावल में दूध और घी मिलाकर इसका सेवन करें l इस उपाय को करने से आपकी शरीर में ताकत बढ़ती है l  

आपकी बुद्धि तेज हो जाती है l अगर आप लंबी उम्र तक जीना चाहते हैं, जिंदगी भर स्वस्थ रहना चाहते हैं, तो इस उपाय को जरूर करें l  

यह आपको जिंदगी भर निरोगी रखेगा l जिससे बीमारियां आपके आसपास भी नहीं भटकेगी l

नागबला मूल का चूर्ण दूध के साथ नियमित सेवन करने से वीर्य का पोषण होता है l 

इससे आप का वीर्य मजबूत बन जाता है l जिन लोगों को लगता है कि उनका वीर्य पतला है, पतले वीर्य के कारण कोई जिंदगी का आनंद नहीं ले पा रहा है या फिर कोई इनफर्टिलिटी की समस्या से परेशान है, तो ऐसे लोगों के लिए नागबला का चूर्ण किसी वरदान से कम नहीं है l 

बवासीर का दर्द बहुत ही परेशान करता है | 

अगर आपको बवासीर की समस्या है, तो नागबला को पानी में उबालकर इसका काढ़ा बना लें l फिर इसमें गुड़ मिलाकर कुछ दिनों तक इसका सेवन करें l  

कुछ दिनों तक इस उपाय को करने से आपकी समस्या खत्म हो जाएगी और आपको आराम मिलेगाl 

आजकल बहुत सारे लोगों को मसूड़ों की समस्या होने लगती है, मसूड़ों की सूजन और मसूड़ों का ढीलापन दूर करने के लिए नागबला बहुत ही लाभकारी औषधि है l 

इसके लिए नागबला पत्तों का काढ़ा बनाकर दिन में तीन चार बार इससे कुल्ला करें l इस उपाय को कुछ दिनों तक करने से ही आपको फर्क दिखने लगेगा l 

मूत्र संबंधी विकार जैसे कि बार-बार पेशाब लगना, पेशाब करते समय दर्द होना, पेशाब में जलन होना जैसे विकारों के लिए नागबला बहुत ही लाभकारी औषधि है l 

इसके लिए नागबला के फूल और कोमल फल को चीनी के साथ हर रोज दिन में दो तीन बार लेने से ही आपको आराम मिलेगा l 

नागबला हृदय विकारों के लिए गुणकारी औषधि है l अगर आप इसका इस्तेमाल अर्जुन की छाल के साथ करते हैं, तो यह बहुत ही गुणकारी बनता हैl 

अर्जुन एक वनस्पति है जो हृदय के लिए फायदेमंद है l यह हृदय को बल प्रदान करता है l आपको कई ह्रदय रोगों से बचाता हैं l साथ ही आपके ब्लड प्रेशर को भी नियंत्रित रखता है l      

नागबला की जड़ और अर्जुन की छाल का मिश्रण दूध के साथ लेने से हृदय विकारों से मुक्ति मिलती है l इस उपाय को 1 महीने तक करने से आपको गर्मी की बीमारी, खांसी में आराम मिलता है l 

कई कारणों से हमारी मांसपेशियां कमजोर हो जाती है | उनकी ताकत कम होने लगती है l नागबला के चूर्ण को दूध के साथ लेने से मांसपेशियों के रोग ठीक हो जाते हैं l 

इसके अलावा वात पित्त के दोष दूर हो जाते हैं l मांसपेशियों को ताकत मिलती है l 

ट्यूबरक्लोसिस की समस्या नागबला मूल का चूर्ण शहद के साथ सेवन करने से फायदा होता है l अगर कोई व्यक्ति TB की दवाइयों का सेवन करता है, तो वह व्यक्ति इस चूर्ण को ले सकता है l 

आमवात की समस्या में नागबला के पत्तों को पीसकर शरीर पर लगाएं इससे सूजन और दर्द में आराम मिलता है l  इसके साथ नागबला के पत्तों का काढ़ा बनाकर आप इसका सेवन कर सकते हैं l 

जब किसी महिला के स्तनों में दर्द होता है, तो ऐसे वक्त में नागबला के पत्तों को हल्का गर्म करके इससे स्तनों को सेकते रहे l 

इस उपाय को करने से दर्द में आराम मिलेगा l नागबला का मूल अर्जुन की छाल और कौंच के बीच इन सब का चूर्ण बनाकर इसमें शहद और घी और मिश्री मिलाकर इसका सेवन करने से पुरानी खांसी ठीक हो जाती है l

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply

Your email address will not be published.