Pro 360 Hepa

78

GMN HEALTHCARE PVT.LTD इस प्रोडक्ट को बनाती है। यह एक प्राइवेट इनकॉरपोरेटेड कंपनी है जिसकी शुरुआत 2 जुलाई 2018 को हुई है। यह कंपनी चेन्नई में स्थित है I मोहनबाबू , हीरा श्रुतिका मोहनबाबू ,मेघा श्वेता इस कंपनी के डायरेक्टर है।

लीवर शरीर का एक अंग है जो केवल कशेरुकी(vertibral) प्राणियों में पाया जाता है। लीवर को यकृत, जिगर, कलेजा जैसे कई नामों से जाना जाता है।

लीवर मनुष्य शरीर में स्थित एक बहुत ही बड़ा अंग है? यह पेट के दाहिने ऊपरी हिस्से में डायग्राम के नीचे स्थित होता है। लीवर मानव शरीर की सबसे बड़ी ग्रंथि है जो पित्त का निर्माण करती है | लीवर का मुख्य कार्य विभिन्न चयापचयोंको डिटॉक्सिफाई करना, प्रोटीन को संश्लेषित करना और पाचन के लिए आवश्यक जैव रसायन बनाना है।

इसके अलावा लीवर कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन को वसा में परिवर्तित करता है। लीवर एंटीबॉडीज और एंटी टैंक निर्माण करता है। इसके अलावा लीवर रक्त का थक्का बनने के लिए आवश्यक प्रोटीन को बनाता है | बाइल साल्ट और बाइल पिगमेंट का श्रवण करता है।

रक्त में बिलरुबिन को अलग करता है विषैले पदार्थों को शरीर से बाहर निकालता है। गैलेक्टोज को ग्लूकोज में परिवर्तित करता है।

Pro 360 Hepa लीवर के लिए उपयोगी न्यूट्रीशनल सप्लीमेंट है। शराब का अत्याधिक सेवन, पेन किलर दवाइयों का ज्यादा सेवन, कई प्रकार के विषाणु, मेटाबोलिक प्रॉब्लम, नशीली चीजों का सेवन, जन्मजात लीवर की विकृति, ऑटोइम्यून डिजीज के कारण लीवर खराब हो जाता है।

वायरस के कारण होने वाली बीमारियां जैसे कि हेपेटाइटिस ए, हेपेटाइटिस बी, हेपेटाइटिस सी इनमें लीवर धीरे-धीरे खराब होता है। हेपेटाइटिस ब्लड, बॉडी फ्लूइड, सीमेन, टीयर्स, व्हजायनल सेक्रीशन, स्वेट के जरिये फैलने वाली एक बीमारी है।

इससे बचने के लिए हेपेटाइटिस का लसीकरण करना बहुत ही जरूरी है। नशीली चीजें, ड्रग, शराब, पॉइजन के कारण फैटी लीवर या लीवर सिरोसिस की बीमारी होती है।

लिवर कैंसर भी लीवर से संबंधित होने वाली एक बहुत ही खतरनाक बीमारी है। लीवर खराब होने पर शरीर की त्वचा पीली होने लगती है | मल और पेशाब पीले रंग का आने लगता है | भूख कम हो जाती है | पेट में दर्द और सूजन होने लगती है। मतली उल्टी आने लगती है|

शरीर कमजोर बनता है | बहुत थकान आने लगती है | शरीर पर खुजली आने लगती है। बिलीरुबिन बढ़ने लगता है | पेट में पानी जमा होने लगता है। कभी-कभी सीने में भी पानी इकट्ठा होने लगता है।

इन सब लीवर से संबंधित बीमारियों में लिवर को सुचारू रूप से कार्य करने के लिए कई सारे पोषक तत्वों की जरूरत होती है।

Pro 360 Hepa न्यूट्रीशनल सप्लीमेंट है, जो लीवर को स्वस्थ रखती है | यह वैनिला फ्लेवर में आती है। यह पाउडर लो सप्लीमेंटल है जो शरीर को कई सारे पोषक तत्व देती है। हेपेटाइटिस, अल्कोहल, इनड्यूस्ड हेपेटाइटिस लीवर सिरोसिस, हैपेटिक एन्सेफेलोपैथी, लीवर फेलियर जैसी लिवर से जुड़ी बीमारियों में आप इसका उपयोग कर सकते हैं।

इससे लीवर को या शरीर के किसी अवयवों को कोई नुकसान नहीं होता | यह 100% शाहकारी पाउडर है। इसमें शुगर बिल्कुल नहीं होती | यह फ्रुक्टोज से बनी हुयी पाउडर है जिसके कारण मधुमेह से ग्रस्त व्यक्ति भी इसका सेवन कर सकते हैं।

इस पाउडर में उच्च स्तर का प्रोटीन होता है, जो लीवर के लिए बहुत ही उपयोगी है | साथ ही इसमें मौजूद Silymarin (milk thislt extract), L-taurine, L- carnitine घटक इस पाउडर को अधिक पौष्टिक बनाते हैं।
इसके अलावा इसमें MCT powder, Whey protien concentrate, Maltodextrin, Silymarin, Vitamin, Mineral और Naural Vanilla Flavour जैसे घटक मौजूद होते हैं।

इस पाउडर को सुखी जगह पर रखें इसमें पानी बिल्कुल ना जाने दे पानी जाने से यह पाउडर खराब हो जाएगी। इसे फ्रिज में ना रखें | पाउडर का डिब्बा एक बार खोलने के बाद 15 – 20 दिन तक आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। इस पाउडर की अच्छी क्वालिटी यहा मिलेगी

इसे लेने के लिए सूखे चम्मच का उपयोग करें | इस पाउडर का उपयोग आप दिन में दो बार कर सकते हैं। इसके लिए 200 ml गुनगुना पानी लेकर उसमे 25 ग्राम पाउडर मिलाकर इस को अच्छे से मिक्स करके आप इसका उपयोग कर सकते हैं। या फिर आप गर्म पानी के अलावा गुनगुने दूध के साथ भी इसे ले सकते हैं |

छोटे बच्चों को डॉक्टर की सलाह के बिना इस पाउडर को ना दें। इस पाउडर का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े –

Leave A Reply

Your email address will not be published.