सुकन्या समृद्धि योजना

10

भारत में गिरता लिंगानुपात हर वर्ग के लिए चिंता का विषय बन चुका है | महिलाओं की शिक्षा स्वास्थ्य जरूरतों के लिए सरकार द्वारा कई योजनाएं चलाई जा रही है |

लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत की है | सुकन्या समृद्धि योजना का उद्देश्य बेटियों की पढ़ाई और उनकी शादी पर आने वाले खर्चे को आसानी से पूरा करना है |

योजना के अंतर्गत बेटी की पढ़ाई और शादी के लिए डाक विभाग के पास सुकन्या समृद्धि योजना का अकाउंट खुलवाया जा सकता है | डाक विभाग के किसी भी पोस्ट ऑफिस के साथ अकाउंट खोलने के लिए सुविधा सेंटर में भी अलग अलग काउंटर खुलेगा |

यह जरूरी डॉक्यूमेंट जमा करने के बाद अकाउंट शुरू हो जाएगा | सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट में बेटी के नाम से 1 साल में 1000 से लेकर ₹150000 जमा कर सकते हैं | यह पैसा अकाउंट से लेकर 14 साल तक ही जमा करवाना होगा |

यह खाता बेटी के 21 साल की होने पर म्योचोर होगा | योजना की नियमों के अंतर्गत बेटी के 18 साल के होने पर आधा पैसा निकलवा सकते हैं | 21 साल के बाद खाता बंद हो जाएगा और पैसा पालक को मिल जाएगा |

अगर बेटी की 18 से 21 साल के बीच में शादी हो जाती है तो अकाउंट उसी वक्त बंद हो जाएगा अकाउंट में अगर पेमेंट लेट हुए तो सिर्फ ₹50 की पेनल्टी लगाई जाएगी |

पोस्ट ऑफिस के अलावा कई सरकारी और निजी बैंक भी इस योजना के तहत खाता खोल रही है | सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खातों पर आयकर कानून की धारा 80 सी के तहत छूट दी जाएगी |

पालक अपनी दो बेटियों के लिए दो अकाउंट भी खोल सकता है | जुड़वा होने पर उसका रूप देकर है पालक दूसरा खाता खोल सकेंगे |

पालक हफ्ते को कहीं पर भी ट्रांसफर कर सकते हैं इसके लिए आवश्यक डॉक्यूमेंट बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र एड्रेस प्रूफ और आईडी प्रूफ |

आयुर्वेदा का फेसबुक पेज लाइक करना मत भूलना।

और पढ़े 

Leave A Reply

Your email address will not be published.